छीनकर लेंगे आजादी के नारे लगाने वालों चीन की इस तस्वीर को देखें, दिमाग ठंडा हो जाएगा

छीनकर लेगे आज़ादी के नारे लगाने वालों को आज हम चीन से आई एक तस्वीर दिखाना चाहते हैं. पिछले कुछ दिनों में आपने नागरिकता कानून के विरोध में पुलिस के साथ बदसलूकी की तस्वीरें देखी होंगी. 

छीनकर लेंगे आजादी के नारे लगाने वालों चीन की इस तस्वीर को देखें, दिमाग ठंडा हो जाएगा

छीनकर लेगे आज़ादी के नारे लगाने वालों को आज हम चीन से आई एक तस्वीर दिखाना चाहते हैं. पिछले कुछ दिनों में आपने नागरिकता कानून के विरोध में पुलिस के साथ बदसलूकी की तस्वीरें देखी होंगी. अभिव्यक्ति की आज़ादी के नाम पर हमने कुछ लोगों को कानून के रखवालों पर ही पथराव करते देखा है. लेकिन कानून और पुलिस. चीन में भी है. जिसका एक रूप आप इस वीडियो में देख सकते हैं. ये दृश्य चीन की पुलिस के Interrogation Room का है. जिस कुर्सी पर ये युवक बैठा है वो Metal से बनी कुर्सी है. जिसमें दोनों हाथ और पैर Automatically Lock हो जाते हैं.

इस युवक के भी दोनों हाथ और पैर. Lock हैं. यानी अब ये शख्स कुर्सी पर बैठा तो है. लेकिन सवालों के जवाब देने के अलावा कुछ भी नहीं कर सकता है. अब आप ये सोच रहे होंगे कि आखिर इस व्यक्ति की गलती क्या है? किस जुर्म में इसे Custody में लिया गया है ? इसका जवाब जानकर आप हैरान हो जाएंगे.

दरअसल, इस व्यक्ति ने...चीन की पुलिस की आलोचना की थी .. वो भी चीन के एक Messaging App पर . इसने पुलिस से कुछ सवाल पूछे थे . लेकिन इन सवालों के जवाब देने के बजाय...चीन की पुलिस ने इस व्यक्ति को ही Custody में ले लिया और अपने अंदाज में सवाल पूछने शुरू कर दिए .

बताया जा रहा है कि अमेरिका के एक पूर्व Intelligence Officer ने इस वीडियो को जारी किया है. ये भी माना जा रहा है कि ये वीडियो कई साल पुराना है . लेकिन .. ये कितना भी पुराना क्यों ना हो.. ये चीन की असलियत को ही दिखा रहा है . जिन्हें भी लगता है कि भारत में अभिव्यक्ति की आजादी नहीं है उन्हें शुक्र मनाना चाहिए कि वे चीन में नहीं हैं .