महाराष्ट्र में सरकार गठन के सवाल पर खड़गे बोले- हम आलाकमान के निर्देश पर काम करेंगे

मल्लिकार्जुन खड़गे राजनीतिक हालात के बारे में सोनिया गांधी को जल्द ही अवगत कराएंगे.

महाराष्ट्र में सरकार गठन के सवाल पर खड़गे बोले- हम आलाकमान के निर्देश पर काम करेंगे
खड़गे ने कहा कि महाराष्ट्र की जनता ने हमें विपक्ष में बैठने का जनादेश दिया है.

जयपुर: महाराष्ट्र सरकार के गठन पर कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे (Mallikarjun Kharge) का कहना है कि महाराष्ट्र की जनता ने हमें विपक्ष में बैठने का जनादेश दिया है और यही हमारा फैसला है. हालांकि हम हाईकमान से निर्देश के अनुसार आगे बढ़ेंगे. आज सुबह 10 बजे एक बैठक है. इसमें आगे की रणनीति तय की जाएगी.

महाराष्ट्र में भाजपा द्वारा सरकार बनाने से आधिकारिक तौर पर इनकार किए जाने के बाद राज्य में एक नया राजनीतिक हालात यह पैदा हो रहा है, जहां कांग्रेस के समर्थन से शिवसेना-राकांपा (राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी) की सरकार बनने की एक संभावना बन सकती है. जयपुर में कांग्रेस विधायकों की बैठक में पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को कोई भी निर्णय लेने के लिए अधिकृत किया गया.

शर्तों के साथ समर्थन देने के पक्ष में कांग्रेस
सूत्रों ने कहा है कि अधिकांश विधायक सेना के नेतृत्व वाली सरकार को शर्तों के साथ समर्थन देने के पक्ष में हैं. पार्टी के राज्य प्रभारी मल्लिकार्जुन खड़गे राजनीतिक हालात के बारे में सोनिया गांधी को जल्द ही अवगत कराएंगे. बता दें कि महाराष्ट्र के नवनिर्वाचित कांग्रेस विधायकों को खरीद-फरोख्त के डर से दिल्ली-जयपुर राजमार्ग पर एक रिसोर्ट में रुकाया गया है.

महाराष्ट्र में विधायकों का संख्याबल
नवनिर्वाचित महाराष्ट्र विधानसभा में 105 विधायकों के साथ भाजपा सबसे बड़ी पार्टी है. जबकि शिवसेना के पास 56, राकांपा के पास 54 और कांग्रेस के पास 44 विधायक हैं.

सरकार कांग्रेस के समर्थन से बन सकती है
महाराष्ट्र के एक पूर्व मुख्यमंत्री के करीबी एक कांग्रेस सूत्र ने कहा, "एक संभावित परिदृश्य में सेना-राकांपा की सरकार कांग्रेस के समर्थन से बन सकती है, जिसमें विधानसभा अध्यक्ष का पद राकांपा के पास हो सकता है."

पवार-सोनिया की मुलाकात
कांग्रेस की रणनीति शरद पवार के परामर्श पर निर्भर होगी, जो मंगलवार को राकांपा विधायकों की बैठक के बाद सोनिया गांधी से मिलने वाले हैं.

कांग्रेस राज्य की दुश्मन नहीं
शिवसेना ने एक तरह के सुलह और संवाद का रास्ता साफ करने के लिए अपने मुखपत्र सामना में एक संपादकीय में कहा है कि कांग्रेस राज्य की दुश्मन नहीं है.

विधायकों को होटल में रखा गया
इस बीच, शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने अपने विधायकों से मुलाकात की और राजनीतिक हालात पर चर्चा की. विधायकों को मुंबई के एक होटल में रखा गया है.

शरद पवार पर नजरें
अब सारी नजरें राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के अध्यक्ष शरद पवार पर है, जो अपने विधायकों से मुलाकात करने वाले हैं. राकांपा नेता नवाब मलिक ने कहा, "हम उसी दिन इस मामले पर विचार करेंगे."

मिलिंद देवड़ा का ट्वीट
वरिष्ठ कांग्रेस नेता मिलिंद देवड़ा ने रविवार को ट्वीट किया, "महाराष्ट्र के राज्यपाल को चाहिए कि अब दूसरे सबसे बड़े गठबंधन राकांपा-कांग्रेस को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित करे, क्योंकि भाजपा-शिवसेना ने सरकार गठन से इंकार कर दिया है."

(इनपुट-आईएएनएस भी)