दिल्ली में नहीं होने दी जाएगी ऑक्सीजन की कमी, जल्द बढ़ेंगे 6 हजार बेड: अरविंद केजरीवाल

दिल्ली के मुख्मंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने कहा कि अधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि रेमडिसविर और पॉसिलिजमॉब की जमाखोरी और ब्लैक मार्केटिंग करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए. 

दिल्ली में नहीं होने दी जाएगी ऑक्सीजन की कमी, जल्द बढ़ेंगे 6 हजार बेड: अरविंद केजरीवाल
अरविंद केजरीवाल, मुख्यमंत्री दिल्ली (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: देशभर में कोरोना (Coronavirus) से हालात बेकाबू होते जा रहे हैं. आंकड़े हर रोज रिकॉर्ड तोड़ रहे हैं. राजधानी में कोरोना वायरस (Coronavirus) के कहर से उबरने के लिए दिल्ली सरकार तमाम कोशिशें कर रही है. इसी क्रम में दिल्ली के मुख्मंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने बढ़ते कोरोना केस को लेकर चिंता जताते हुए कहा कि हम दिन-रात मेहनत कर ज्यादा से ज्यादा स्वास्थ्य सुविधाओं का इंतजाम कर रहे हैं, ताकि कोरोना से एक कदम आगे रहें. दिल्ली में अगले दो से चार दिनों के अंदर करीब 6 हजार बेड और बढ़ा दिए जाएंगे.

'दिल्ली वालों की सुरक्षा और जिंदगी प्राथमिकता'
सीएम केजरीवाल ने कहा कि कोरोना के केस तेजी से बढ़ने की वजह से दिल्ली में ऑक्सीजन, रेमडिसविर और पॉसिलिजमॉब की कमी होती जा रही है. अधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि रेमडिसविर और पॉसिलिजमॉब की जमाखोरी और ब्लैक मार्केटिंग करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए. क्षमता से अधिक सैंपल उठाने और 24 घंटे में रिपोर्ट नहीं देने वाले लैब्स के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. साथ ही, कोरोना APP पर गलत जानकारी देने और उपलब्ध होने के बावजूद बेड नहीं देने वाले अस्पतालों के खिलाफ भी अब कड़ी कार्रवाई होगी. सीएम ने कहा कि अगर कोरोना की स्थिति और गंभीर होती है तो दिल्ली वालों की सुरक्षा और जिंदगी बचाने के लिए हम और भी कड़े कदम उठाएंगे.

ऑक्सीजन की कमी
बता दें, कोविड मरीजों के लिए बेड और आईसीयू (ICU) बेड की किल्लत की खबरों के सीएम अरविंद केजरीवाल लगातार हालात पर नजर रखे हैं. नाइट कर्फ्यू (Night Curfew) के बाद दिल्ली में वीकेंड कर्फ्यू जैसे कदम उठाए जा चुके हैं. इसके बावजूद कोरोना की रफ्तार पर ब्रेक लगती नहीं दिख रही है. अब दिल्ली में कोरोना के बेकाबू हालात के बीच सीएम अरिविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने कहा है, ऑक्सीजन की कमी नहीं होने दी जाएगी. केस बहुत ज्यादा तेजी से बढ़ रहे हैं. दिल्ली के अंदर बेड बनाने का काम भी तेजी से चल रहा है.

2 से 4 दिनों में बढ़ेंगे बेड
सीएम केजरीवाल ने कहा, अभी तक दिल्ली में बिस्तर की कमी नहीं होने दी गई है और अब 2 से 4 दिनों में और बेड हम लगाएंगे. ऑक्सीजन की भी दिक्कत नहीं होने देंगे. हम कोशिश कर रहे हैं कि जितना ज्यादा से ज्यादा बेड दे सकें. उन्होंने कहा, स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स में 1300 बेड लगाएंगे. 
होटल्स, बैंक्वेट हॉल को अस्पताल के साथ जोड़ा जा रहा है और 2100  बेड्स तैयार कर रहे हैं.

यहां बढ़ेंगे 1300 ऑक्सीजन बेड्स
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा, आने वाले दिनों में हम बड़े पैमाने में कोरोना के इलाज के लिए बेड बढ़ाएंगे. यमुना स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स, कॉमनवेल्थ गेम्स विलेज में करीब 1300 ऑक्सीजन बेड्स का इंतजाम किया जा रहा है. राधा स्वामी सत्संग व्यास में पहले 2500 बेड तैयार किए जाएंगे, उसके बाद फिर 2500 बेड तैयार किए जाएंगे.

रेमडेसिविर की जमाखोरी करने वालों के खिलाफ कार्रवाई
सीएम केजरीवाल ने कहा है, मैंने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन से बात की और उनसे निवेदन किया कि दिल्ली में बेड की कमी है पिछली बार नवंबर में हमारे पास 4100 केंद्र ने उपलब्ध कराए थे लेकिन इस बार सिर्फ 1800 बेड दिए हैं. केंद्र सरकार के दिल्ली में करीब 10 हजार बेड है मैंने निवेदन किया है कि कम से कम 50 प्रतिश बेड Covid-19 रिजर्व किए जाएं. रेमडेसिविर की काफी किल्लत हो रही है, उसको मुहैया कराया जाए. रेमडेसिविर की जमाखोरी करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

रिपोर्ट में देरी क्यों?
CM अरविंद केजरीवाल ने यह भी कहा कि केंद्र सरकार से हमेशा हमें सहयोग मिला है और हमें उम्मीद है कि अब भी मिलेगा. साथ ही उन्होंने रिपोर्ट देरी से मिलने पर कहा, दिल्ली में पहले 24 घंटे में नतीजे आते थे लेकिन अब 3 से 4 दिन लगते हैं. इसकी वजह है, जरूरत से ज्यादा लैब सैंपल उठा रहे हैं. उन लैब्स को सैंपल न दिए जायें जो 24 घंटे के अंदर आपको रिपोर्ट नहीं दे रहे हैं. दिल्ली सरकार का एक App है जहां आपको जानकारी मिल जाएगी कि कौन सा सेंटर खाली है.

खाली होने पर भी बेड नहीं दिया तो कार्रवाई
बेड खाली होने पर जो अस्पताल बेड नहीं दे रहे हैं उन पर सख्त करवाई के निर्देश दिए गए हैं. CM केजरीवाल ने कहा, ऐसी शिकायत मिल रही हैं कि कोरोना App पर बेड दिखाया जाता है लेकिन जब अस्पताल में जाओ तो बेड नहीं मिलता है, ऐसे अस्पतालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी. उन्होंने कहा, कोरोना से लड़ने के लिए हमें मजबूरी में वीकेंड कर्फ्यू लगाना पड़ा है. अगर स्थिति गंभीर होती है तो हम सभी जरूरी कदम उठाएंगे.

हर अस्पताल पर एक नोडल
इस बीच दिल्ली सरकार ने कोरोना के इलाज में लगे सभी सरकारी और बड़े प्राइवेट अस्पतालों के लिए हर अस्पताल पर एक नोडल ऑफिसर नियुक्त कर दिया है. दिल्ली सरकार के 11 अस्पतालों के लिए आईएएस अफसरों को नोडल ऑफिसर नियुक्त किया गया है. जबकि 15 बड़े प्राइवेट अस्पतालों के लिए DANICS अधिकारियों को नोडल ऑफिसर नियुक्त किया गया है. इसके अलावा प्रोबेशन पीरियड में चल रहे और ट्रेनिंग ले रहे DANICS अधिकारियों को भी दिल्ली सरकार के अस्पतालों के साथ अटैच कर दिया गया है, जो IAS अफसर की मदद करेंगे.

LIVE TV

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.