close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

साइकिल के पाइप से बनाते थे पिस्टल, 30 पिस्टल के साथ दो आरोपी गिरफ्तार

स्पेशल सेल की टीम ने जब आरोपियों से पूछताछ की तो आरोपियों ने बताया कि पवन सिंह पिछले दस सालों से अवैध हथियार बना रहा था. 

साइकिल के पाइप से बनाते थे पिस्टल, 30 पिस्टल के साथ दो आरोपी गिरफ्तार
बिहार के मुंगेर और मध्यप्रदेश के खरगौन में बने हथियारों की अच्छी किस्म को देखते हुए जुर्म की दुनिया मे यहां पर बने हथियार की मांग हमेशा से रही है.

नई दिल्ली: दिल्ली में आये दिन होने वाली गोलीबारी को देखते हुए स्पेशल सेल ने अवैध हथियारों की धरपकड़ के लिए एक मुहिम शुरू की. इसके बाद पुलिस के हत्थे मध्यप्रदेश के रहने वाले पवन सिंह और चंदन सिंह नाम के दो शख्स चढ़ गए. ये दोनों आरोपी मुंगेर में अवैध रूप से बनाई गई तीस सेमी ऑटोमेटिक पिस्टल दिल्ली के बदमाशों को सप्लाई करने के मक़सद से रोहिणी लेकर आये थे. 

स्पेशल सेल की टीम ने जब आरोपियों से पूछताछ की तो आरोपियों ने बताया कि पवन सिंह पिछले दस सालों से अवैध हथियार बना रहा था. वो साइकिल के फ्रेम ओर कुछ चीजों को मिलाकर अच्छी किस्म की सेमी ऑटोमेटिक पिस्टल बनाता था. उसके बाद साथी चंदन सिंह की मदद से उन्हें अच्छी कीमत में दिल्ली एनसीआर के बदमाशों को बेच देता था. पूछताछ में पवन ने बताया कि उसका परिवार पिछले 80 सालों से अवैध हथियारों के इस गैर कानूनी धंधे में लगा हुआ था. जल्दी पैसे कमाने और अच्छी किस्म के हथियारों की मांग की वजह से वो साइकिल के फ्रेम, पाइप और स्प्रिंग से अच्छी किस्म की सेमी ऑटोमेटिक पिस्टल बनाने में माहिर था. 

चंदन सिंह हथियारों को बदमाशों को सप्लाई करने का काम करता था. बिहार के मुंगेर और मध्यप्रदेश के खरगौन में बने हथियारों की अच्छी किस्म को देखते हुए जुर्म की दुनिया मे यहां पर बने हथियार की मांग हमेशा से रही है. पुलिस अब दोनों आरोपियों से उन बदमाशों के बारे में पता करने में लगी है जिनको ये सेमी ऑटोमेटिक पिस्टल की सप्लाई करनी थी.