मनीष सिसोदिया के घर के बाहर BJP का प्रदर्शन, कहा-केजरीवाल सरकार होश में आओ

दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश से मारपीट के मामले में गुरुवार को भाजपा कार्यकर्ताओं ने दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के घर के बाहर प्रदर्शन किया. 

मनीष सिसोदिया के घर के बाहर BJP का प्रदर्शन, कहा-केजरीवाल सरकार होश में आओ
भाजपा कार्यकर्ताओं ने गुरुवार को दिल्ली के डिप्टी सीएम के घर के बाहर प्रदर्शन किया. फोटो साभार: एनआई

नई दिल्ली. दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश से मारपीट के मामले में गुरुवार को भाजपा कार्यकर्ताओं ने उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के घर के बाहर प्रदर्शन किया. इस दौरान भाजपा कार्यकर्ताओं ने केजरीवाल सरकार के खिलाफ जोरदार नारेबाजी की. भाजपा ने दिल्ली की आप सरकार पर गुंडागर्दी करने का आरोप लगाया है. दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश ने आरोप लगाया था कि सोमवार रात मुख्यमंत्री के आवास पर एक बैठक के दौरान आप विधायक अमानतुल्ला खान और अन्य ने उन पर हमला किया था. प्रकाश की शिकायतों के आधार पर दिल्ली पुलिस ने खान और अन्य के खिलाफ एक एफआईआर दर्ज की थी.

मुख्य सचिव अंशु प्रकाश की मेडिकल रिपोर्ट में खुलासा, चेहरे पर चोट के निशान और सूजन

दिल्‍ली के मुख्‍य सचिव अंशु प्रकाश से मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास पर कथित तौर पर मारपीट के मामले में यह बात सामने आई कि इस हाथापाई के दौरान चीफ सेक्रेटरी को चोटें आईं. मंगलवार देर रात उनका मेडिकल टेस्ट कराया गया था, जिसमें खुलासा हुआ कि उनके शरीर पर चोट के निशान थे. मेडिकल रिपोर्ट में अंशु के माथे के दाएं तरफ चोट के निशान, दोनों कानों के पीछे सूजन, होठों पर चोट के निशान, दाएं गाल पर सूजन की बात कही गई. 

बता दें कि इस मामले के सामने आने के बाद दिल्‍ली पुलिस ने मंगलवार देर रात आप विधायक प्रकाश जरवाल को गिरफ्तार कर लिया था, जबकि ओखला से विधायक अमानतुल्‍ला खान ने बुधवार को खुद जामिया नगर थाने में सरेंडर कर दिया, जिसके बाद उन्‍हें भी गिरफ्तार कर दिल्‍ली पुलिस ने दोनों विधायकों को तीस हजारी कोर्ट में पेश किया. प्रकाश जरवाल को मंगलवार देर रात उनके देवली स्थित घर से हिरासत में लिया था, जिसके बाद उनसे सिविल लाइंस पुलिस स्‍टेशन में पूछताछ की गई थी. 

ये भी पढ़ें: मुख्य सचिव से मारपीट के मामले में AAP विधायक प्रकाश जारवाल हिरासत में

केजरीवाल के सलाहकार वीके जैन से भी पूछताछ
इस मामले में पुलिस ने सीएम अरविंद केजरीवाल के सलाहकार वीके जैन से भी पूछताछ की थी. दिल्ली पुलिस कमिश्‍नर ने इस मामले को लेकर गृह सचिव से मुलाकात की  थी. IAS एसोसिएशन ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मिलने का वक्त मांगा था. कयास लगाए जा रहे हैं कि आईएएस एसोसिएशन राष्ट्रपति से मुलाकात कर किसी नतीजे पर पहुंच सकते हैं.

एलजी से मिले शीला दीक्षित और अजय माकन
उधर, गृह मंत्रालय ने इस पूरे मामले को लेकर दिल्‍ली के उप राज्‍यपाल अनिल बैजल से रिपोर्ट मांगी थी. इस मामले ने राजनीतिक रंग भी ले लिया है. इस प्रकरण को लेकर दिल्‍ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्‍यक्ष अजय माकन और दिल्‍ली की पूर्व मुख्‍यमंत्री शीला दीक्षित ने एलजी से मुलाकात की थी. 

मुख्य सचिव ने जातिसूचक टिप्पणियां कीं- विधायक जरवाल और अजय दत्‍त का दावा

इससे पहले, देवली के विधायक जरवाल और अंबेडकर नगर के आप विधायक अजय दत्त ने दावा किया कि नौकरशाह ने जातिसूचक टिप्पणियां कीं. उन्होंने उनके खिलाफ दिल्ली पुलिस और राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग में एक शिकायत भी दर्ज कराई थी. आप के अंबेडकर नगर के विधायक अजय दत्त ने अंशु प्रकाश के खिलाफ जातिसूचक टिप्पणी करने की शिकायत पुलिस में दर्ज कराते हुए आरोप लगाया कि प्रकाश ने यह टिप्पणी मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास पर बैठक के दौरान की थी. प्रकाश का आरोप है कि इसी बैठक में उनके साथ मारपीट की गई थी. दत्त ने अपनी शिकायत में कहा कि मुख्य सचिव ने सोमवार रात हुई बैठक में दुर्व्यवहार किया और उनके खिलाफ जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल किया.

योगेंद्र यादव ने लिखी चिट्ठी
'लाभ के पद' मामले में 20 आप विधायकों को निर्वाचन आयोग द्वारा अयोग्य ठहराए जाने की सिफारिश को स्वराज इंडिया ने कानूनी तौर पर सही बताते हुए इसे देर से आया सही निर्णय बताया. पार्टी के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष अनुपम ने कहा कि विधायकों की यह अवैध नियुक्ति संवैधानिक नियमों का तकनीकी उल्लंघन मात्र नहीं, बल्कि केजरीवाल के राजनीतिक भ्रष्टाचार और अनैतिकता का भी परिचायक है. इसके साथ ही पार्टी के अध्यक्ष योगेंद्र यादव ने एक चिट्ठी लिखी थी.

केजरीवाल माफी मांगें, नहीं तो अधिकारी किसी भी बैठक में नहीं होंगे शामिल- ऑफिसर्स एसोसिएशन
मुख्य सचिव अंशु प्रकाश पर कुछ आप विधायकों के कथित हमले को लेकर नाराज नौकरशाहों ने कहा कि जब तक मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल इस घटना को लेकर माफी नहीं मांगेंगे तब तक वे केजरीवाल और उनके मंत्रिमंडलीय सहयोगियों द्वारा बुलाई जाने वाली बैठकों का बहिष्कार करेंगे. अधिकारियों की तीन एसोसिएशनों... आईएएस (इंडियन एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विस), डीएएनआईसीएस (दिल्ली अंडमान एंड निकोबार आईलैंड्स सिविल सर्विस) तथा डीएसएसएस (दिल्ली सबऑर्डिनेट सर्विसेज सलेक्शन बोर्ड) ने मंगलवार रात एक बैठक में एक प्रस्ताव पारित किया था. प्रस्ताव में कहा गया कि वे आम आदमी पार्टी के मंत्रियों के साथ लिखित में संवाद बनाए रखेंगे ताकि लोक सेवा आपूर्ति में कोई व्यवधान न हो.

केजरीवाल के सामने मारपीट की गई, कोई बचाने नहीं आया- मुख्‍य सचिव अंशु प्रकाश
उल्‍लेखनीय है कि दिल्ली सरकार के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश ने मंगलवार को आरोप लगाया था कि आम आदमी पार्टी(आप) के विधायक अमानतुल्लाह खान और एक अन्य विधायक ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के सामने उनके सरकारी आवास में उनसे मारपीट की थी. उन्होंने कहा कि वह मारपीट करने वाले एक अन्य विधायक की पहचान कर सकते हैं. आम आदमी पार्टी (आप) ने हालांकि इन आरोपों से इंकार किया है और कहा कि मुख्य सचिव भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के इशारे पर फर्जी आरोप लगा रहे हैं. प्रकाश ने मंगलवार को पुलिस शिकायत में कहा, "विधायक अमानातुल्लाह खान और मेरी बाई तरफ खड़ा विधायक/व्यक्ति, जिसकी पहचान मैं कर सकता हूं, ने मेरी तरफ से बिना किसी उकसावे के मुझे पीटना शुरू कर दिया. उन्होंने मुझे मेरे सिर और कनपटी पर कई बार मारा." प्रकाश ने कहा, "इस दौरान मेरा चश्मा जमीन पर गिर गया और मैं पूरी तरह 'सदमे की स्थिति' में पहुंच गया." उन्होंने कहा, "घटना के बाद मैं किसी तरह कमरे से बाहर जाने, अपने आधिकारिक कार में बैठने और मुख्यमंत्री आवास को छोड़ने में सफल हुआ." मुख्य सचिव ने अपनी शिकायत में कहा कि कमरे में उपस्थित किसी ने भी मुझे बचाने का प्रयास नहीं किया.