हरियाणा: अंतरजातीय विवाह पर पंचायत का फैसला, 'परिजन को गांव छोड़ने की धमकी'

पंचायत की ओर से चेतावनी भरे लहजे में निर्देश दिया गया है कि अगर कोई कानून की बातें करता हैं, तो दोनों परिवार के खिलाफ पूरा गांव लामबंद होगा.

हरियाणा: अंतरजातीय विवाह पर पंचायत का फैसला, 'परिजन को गांव छोड़ने की धमकी'
प्रतीकात्मक तस्वीर

हिसार: हरियाणा सरकार भले ही अंतरजातीय विवाह को बढ़ावा देकर समाज में जाति-पाति के भेदभाव को कम करने के प्रयास के लिए योजनाएं चला रही हो. लेकिन, हरियाणा के हिसार जिले की एक पंचायत ने अंतरजातीय विवाह करने वाले जोड़े को लेकर एक अजीबोगरीब फरमान सुनाया है. मामला गांव के 30 वर्षीय लड़के और 24 साल की एक लड़की द्वारा अंतरजातीय प्रेमविवाह करने से जुड़ा है. बता दें कि हिसार से करीब 45 किलोमीटर दूर बसे इस गांव का राजनीतिक तौर पर भी विशेष महत्व रहा है.

बताया जा रहा है कि गांव में जैसे ही दोनों द्वारा शादी किए जाने की बात का पता चला, उसके बाद पंचायत बुलाई गई. पंचायत में मौजूद लोगों ने 11 सदस्यीय कमेटी का गठन कर लड़का-लड़की के इस निर्णय को लेकर एक के बाद एक फरमान जारी कर दिए. फरमान सुनाए जाने का वीडियो भी सामने आ गया है, लेकिन इस मसले पर कोई भी कुछ प्रतिक्रिया देने को तैयार नहीं है. पंचायत के दौरान बनाए गए वीडियो में एक बुजुर्ग सामाजिक भाईचारे का हवाला देते हुए लड़के को परिजनों को 31 जनवरी तक गांव छोड़ कर चले जाने की बात कह रहा है. वहीं, लड़की के परिजनों को निर्देश दिए गए है कि वो अपनी बेटी से कोई रिश्ता ना रखे.

वहीं, पंचायत की ओर से चेतावनी भरे लहजे में निर्देश दिया गया है कि अगर कोई कानून की बातें करता हैं, तो दोनों परिवार के खिलाफ पूरा गांव लामबंद होगा. बताया जा रहा है कि जिस दौरान यह कार्रवाई हुई उस दौरान पंचायत में लड़का-लड़की पक्ष से किसी को भी शामिल नहीं किया गया था. उधर, इस मसले को लेकर अभी पुलिस की तरफ से कुछ नहीं कहा जा रहा है. साथ ही पीड़ित परिवार भी मीडिया के सामने नहीं बोल रहे हैं. 

बता दें कि इस मामले में 22 दिसंबर से लड़की के लापता होने की पुलिस में रिपोर्ट भी लिखवाई गई थी. शादी करने वाले लड़का-लड़की अंतरजातीय है. दोनों का घर आसपास था. परिवार वाले शादी के लिए राजी नही थे, इसलिए दोनों ने घर से भागकर कोर्ट में अंतरजातीय प्रेम विवाह कर लिया. फिलहाल, प्रेमी युगल कहां रह रहे हैं, इस बारे में किसी को नहीं पता है. बता दें कि हरियाणा सरकार ने अंतरजातीय विवाह करने वालों के लिए सामाजिक समरसता विवाह शगुन योजना के तहत 1 लाख 1 हजार रुपए देने की योजना बना रखी है.

(इनपुट भाषा से)