कारोबारी को गोली मारने की धमकी देकर एक करोड़ 40 लाख रुपए लूटे

पुलिस ने कारोबारी के बयान पर मामला दर्ज कर लिया है. पुलिस आरोपियों की तलाश में वारदात के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाल रही है.

कारोबारी को गोली मारने की धमकी देकर एक करोड़ 40 लाख रुपए लूटे
पुलिस ने सडक़ किनारे लावारिस हालत में खड़ी कार को जब्त कर लिया है.

नई दिल्‍ली: राष्‍ट्रीय राजधानी के रानी बाग इलाके में एक कारोबारी से एक करोड़ चालीस 40 रुपये से भरा बैग बाइक सवार बदमाशों ने दिनदहाड़े लूट लिया. आरोपी कारोबारी को जान से मारने की धमकी देकर उसकी कार भी लेकर फरार हो गए. लेकिन कुछ ही दूरी पर कार को लावारिस हालत में छोडक़र नोटों से भरा बैग लेकर फरार हो गए. पुलिस ने सडक़ किनारे लावारिस हालत में खड़ी कार को जब्त कर लिया है. पुलिस ने कारोबारी के बयान पर मामला दर्ज कर लिया है. पुलिस आरोपियों की तलाश में वारदात के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाल रही है.

जानकारी के मुताबिक पीडि़त कारोबारी की पहचान विनोद के रूप में हुई है. वह परिवार के साथ रानी बाग इलाके में रहते हैं. शुक्रवार शाम पीसीआर को रानी बाग इलाके  कारोबारी विनोद को गोली मारने की धमकी देकर उसकी कार और कार में बैग में रखे एक करोड़ 40 लाख रुपये लूटने की सूचना मिली.

पुलिस मौके पर पहुंची. कारोबारी विनोद ने पुलिस को बताया कि बाइक सवार बदमाशों ने हेलमेट पहन रखा था. जिन्होंने बाइक से कार को ओवरटेक कार कार को जबरन रुकवा लिया था. विरोध करने पर बदमाशों ने उसे गोली मारने की धमकी दी. उसे ड्राइविंग सीट से बाहर घसीटकर सडक़ पर खड़ा कर दिया. बदमाश कार लेकर फरार हो गए. पुलिस अधिकारियों का कहना है कि वारदात के बाद बाइक सवार बदमाश ही कार को चलाकर ले गया था. कार करीब 300 मीटर की दूरी पर लावारिस हालत में खड़ी मिली है, जिसमें से बैग गायब है.

कार से फिंगर प्रिंटस  इक्ट्ठा कर आरोपियों तक पहुंचने की कोशिश की जा रही है, जिस तरह से वारदात हुई है. उससे लगता है कि आरोपी कोई जानकार हो सकते हैं. जिनको पता था कि कारोबारी विनोद अपने ऑफिस से बैग में रखकर करोड़ों रुपये की रकम लेकर घर जा रहे हैं. उन्होंने बाइक से पीछा किया और वारदात को अंजाम दिया. पुलिस मामले में मुखबरी होने की भी आशंका से इंकार नहीं कर रही है. पुलिस कारोबारी के कर्मचारियों की भी डिटेल ले रही है. ज्ञात हो कि लॉरेंस रोड पर कारोबार करने वालों में विनोद पहला कारोबारी नहीं है जिसके साथ लूटपाट हुई है.