close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

...कुछ यूं अपनी बातों के जाल में फंसाकर ठग लेते थे लाखों रुपए

दिल्‍ली पुलिस की पश्चिम जिला साइबर सेल यूनिट ने विनोद कुमार की निशानदेही पर पुलिस ने दूसरे आरोपी को झारखंड के दुकमा से गिरफ्तार कर लिए है.

...कुछ यूं अपनी बातों के जाल में फंसाकर ठग लेते थे लाखों रुपए

नई दिल्‍ली: दिल्‍ली पुलिस ने बैंक फ्राड करने वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ किया है. पश्चिम जिला पुलिस ने इस गिरोह के दो गुर्गों को गिरफ्तार किया है. जिनकी पहचान विनोद कुमार मोदी और रिक्‍की कुमार के रूप में हुई है. पुलिस इस गिरोह के मास्‍टर माइंड अजीत कुमार मोदी की तलाश में पुलिस की टीमें लगातार छापेमारी कर रही है. पुलिस के अनुसार, यह गिरोह लोगों को अपनी बातों में फंसाकर उनके एटीएम का पासवर्ड पता कर लेता था. इस पासवर्ड की मदद से यह गिरोह इंटरनेट बैंकिंग के जरिए लाखों रुपए की ठगी करने में सफल हो जाता था.

पश्चिम जिला पुलिस उपायुक्‍त मोनिका भारद्वाज ने बताया कि नेहरू विहार निवासी जगदीश चंद्र ने 2.42 लाख रुपए की धोखाधड़ी के बाबत कीर्ति नगर थाना में शिकायत दर्ज कराई थी. अपनी शिकायत में उन्‍होंने बताया था कि एक बैंक एकाउंट कीर्ति नगर स्थिति स्‍टेट बैंक ऑफ इंडिया में है. जिससे किसी ने गैर कानूनी तरीके से 2.42 लाख रुपए निकाल लिए हैं. जगदीश चंद्र की शिकायत पर पुलिस ने आईपीसी की धारा 420 के तहत मामला दर्ज कर अपनी तफ्तीश शुरू कर दी. 

ई-वॉयलेट के जरिए रुपए करते थे ट्रांसफर
डीसीपी मोनिका भारद्वाज के अनुसार, पश्चिमी जिले की साइबर सेल ने जांच के दौरान पाया कि जगदीश चंद्र के खाते से रुपयों को विभिन्‍न ई-वॉयलेट में स्‍थानांतरित  किया गया है. इन ई-वॉयलेट में पेय-टीएम, ओला कैब, पेसा, अमेजॉन, हेल्‍प चैट और एयरटेल मनी शामिल थे. पड़ताल में पता चला कि इन ई-वॉयलेट का इस्‍तेमाल झारखंड, उड़ीसा और पश्चिम बंगाल से किया जा रहा है. जांच में पुलिस के हाथ निराशा तब लगी, जब चिन्हित किए गए ई-वॉयलेट के पतों को फर्जी पाया गया. 

पश्चिम बंगाल और झारखंड से गिरफ्तार हुए आरोपी
डीसीपी मोनिका भारद्वाज ने बताया कि जांच के दौरान एक पेयटीएम एकाउंट भी सामने आया था. यह पेय टीएम एकाउंट इंडसबैंक की दुर्गापुर ब्रांच से जुड़ा हुआ था. जांच के दौरान पाया गया कि इस पेय टीएम एकाउंट से बैंक ऑफ इंडिया की वेस्‍ट वर्दमान शाखा से ट्रांजेक्‍शन हुए थे. पश्चिम जिला पुलिस ने हाथ लगे सबूतों के आधार पर छापेमारी कर विनोद कुमार मोदी नामक शख्‍स को वेस्‍ट वर्दमान से गिरफ्तार कर लिया. विनोद कुमार की निशानदेही पर पुलिस ने दूसरे आरोपी को झारखंड के दुकमा से गिरफ्तार कर लिए है.