close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

हीट स्ट्रेस स्टडीः आपको कितनी गर्मी लगती है, अब IIT को बताएं

15 जुलाई 2019 सर्वे में भाग लेने की आखिरी तारीख है. सर्वे में हिस्सा लेने के लिए आपके पास स्मार्ट फोन और उसका जीपीएस लोकेशन हर वक्त ऑन रहना ज़रुरी है. 

हीट स्ट्रेस स्टडीः आपको कितनी गर्मी लगती है, अब IIT को बताएं
इस सर्वे में पूछे गए सवालों के मुताबिक, गर्मी की वजह से दिन के किस वक्त सबसे ज्यादा परेशानी का सामना करना पड़ा? (फाइल फोटो)

नई दिल्लीः दुनियाभर में और साथ ही भारत में बढ़ती जा रही गर्मी को देखते हुए आईआईटी दिल्ली एक स्टडी करने जा रहा है. स्टडी में हीट स्ट्रेस यानी गर्मी से होने वाले शारीरिक तनाव को मापा जाएगा.आईआईटी दिल्ली का डिपार्टमेंट द् सेंटर फॉर एट्मोस्फियर साइंसेज (The Centre for Atmospheric Sciences) इस स्टडी को करने जा रहा है. 

हीट स्ट्रेस से मतलब है गर्मी की वजह से शरीर पर पड़ने वाला असर
ये स्टडी भारतीय आबादी पर की जा रही है, जिससे भारत में बढ़ रही गर्मी से निपटने की बेहतर योजनाएं बनाई जा सके. स्टडी को भारत सरकार फंड कर रही है. भारत का कोई भी नागरिक. यानी आप भी स्टडी का हिस्सा हो सकते हैं. इसके लिए एंड्रॉयड फोन से हीट स्ट्रेस सर्वे (Heat Stress Survey) ऐप डाउनलोड करना होगा. या फिर www.heatstressindia.in वेबसाइट पर जाकर भी हिस्सा लिया जा सकता है. 

15 जुलाई 2019 सर्वे में भाग लेने की आखिरी तारीख है. सर्वे में हिस्सा लेने के लिए आपके पास स्मार्ट फोन और उसका जीपीएस लोकेशन हर वक्त ऑन रहना ज़रुरी है. 

यह भी पढ़ेंः नौतपा ने दिखाया अपना विकराल रूप, तापमान पहुंचा 40 डिग्री सेल्सियस के पार

सर्वे के सवाल 
इस सर्वे में तीन तरह के सवाल पूछे जाएंगे 

1. गर्मी की वजह से दिन के किस वक्त सबसे ज्यादा परेशानी का सामना करना पड़ा?

2. गर्मी के दौरान मौसम में नमी थी, सूखा मौसम था य़ा गर्म हवाओं का?

3. आपकी दिनचर्या कैसी रही?

स्टडी के हेड प्रोफेसर साग्निक डे का कहना है  " हीट स्ट्रेस से मतलब है जब व्यक्ति के लिए गर्मी उसकी सामान्य क्षमता और बर्दाश्त से बाहर हो जाए. गर्मी झेलने की क्षमता अलग अलग हालात में अलग अलग हो सकती है, मसलन कपड़े, उस इलाके का मौसम, व्यक्ति कैसा काम कर रहा है. भारत जैसे बड़े देश में अलग अलग राज्यों के मौसम को देखते हुए अलग अलग हीट इंडेक्स तैयार किए जाएंगे." आईआईटी दिल्ली के अलावा आईआईटी कानपुर, आईआईएसईआर भोपाल, आरकेएमवीयू कोलकाता, एसआरयू चेन्नईस, आईआईपीएच गांधीनगर इस स्टडी को करेंगे.