Breaking News

कोरोना वायरस: भारत सरकार ने श्री करतारपुर साहिब यात्रा पर लगाई रोक, रजिस्ट्रेशन भी बंद

 भारत में अब तक कोरोना वायरस से पीड़ित मरीजों की संख्या 93 पहुंच गई है. 

कोरोना वायरस: भारत सरकार ने श्री करतारपुर साहिब यात्रा पर लगाई रोक, रजिस्ट्रेशन भी बंद
(फाइल फोटो)

नई दिल्ली:  गृह मंत्रालय ने कोरोना वायरस (Coronavirus) के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए एहतियातन पाकिस्तान (Pakistan) स्थित श्री करतारपुर साहिब (Kartarpur Sahib) के लिए यात्रा और रजिस्ट्रन को, 16 मार्च 2020 से अगले निर्देश मिलने तक अस्थायी रूप से निलंबित कर दिया गया है. बता दें भारत में अब तक कोरोना वायरस से पीड़ित मरीजों की संख्या 93 पहुंच गई है. 

करतारपुर साहिब, जिसे मूल रूप से गुरुद्वारा दरबार साहिब के नाम से जाना जाता है, पवित्र तीर्थस्थलों में से एक है और माना जाता है कि सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव यहां अपने जीवन के अंतिम दिन बिताए थे.

गौरतलब है कि करतारपुर कॉरिडोर (Kartarpur Corridor) को बीते नवंबर में खोला गया. यह भारतीय सीमा को गुरुद्वारा दरबार साहिब करतारपुर से जोड़ता है. यहां सिख तीर्थयात्रियों को बिना वीसा के तीर्थयात्रा करने व उसी दिन लौटने की अनुमति है.

कोरोना पर मोदी के वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग प्रस्ताव पर पाकिस्तान राजी
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की कोविड-19 पर दक्षेस देशों द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग करने के प्रस्ताव पर पाकिस्तान ने सकारात्मक प्रतिक्रिया दी है. शनिवार (14 मार्च) को मोदी ने दक्षिण एसियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन (दक्षेस) के देशों को कोरोनावायरस महामारी से निपटने के उपायों पर चर्चा के लिए वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग का प्रस्ताव दिया था. पीएम मोदी ने कई सारे ट्वीट्स के जरिए कहा था, "मैं दक्षेस देशों के नेताओं को प्रस्ताव देता हूं कि कोरोनावायरस से लड़ने के लिए मजबूत रणनीति बनाएं."

उन्होंने कहा, "हम वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए अपने नागरिकों को स्वस्थ्य रखने के तरीकों पर चर्चा कर सकते हैं. साथ मिलकर हम दुनिया के सामने एक उदाहरण पेश कर सकते हैं और पृथ्वी को स्वस्थ्य बनाने में अपना योगदान दे सकते हैं. "

द एक्सप्रेस ट्रिब्यून में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार, इस प्रस्ताव पर प्रतिक्रिया देते हुए पाकिस्तान विदेश विभाग की प्रवक्ता आइशा फारूकी ने स्वीकार किया कि वैश्विक और क्षेत्रीय स्तर पर कोविड-19 के खतरे से निपटने के लिए संयुक्त प्रयासों की जरूरत है.

उन्होंने शनिवार सुबह एक ट्वीट में कहा, "हमने स्वास्थ्य पर एसएपीएम(जफर मिर्जा) से संवाद किया है. वह दक्षेस के सदस्य देशों के साथ इस विषय पर चर्चा करने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में भाग लेने के लिए उपलब्ध रहेंगे." गुरुवार को फारूकी ने कहा था कि पाकिस्तान कोरोनावायरस से निपटने के लिए भारत समेत अपने पड़ोसियों के साथ सहयोग करने के लिए तैयार है.

ये वीडियो भी देखें: