India-China के के मिलिट्री कमांडर्स के बीच 12वें दौर की बैठक, डिसइंगेजमेंट पर होगी चर्चा

India China Border Dispute: पिछले दौर की सैन्य वार्ता में दोनों पक्षों ने हॉट स्प्रिंग्स, गोगरा और देपसांग में सैनिकों को हटाने की प्रक्रिया आगे बढ़ाने के तरीकों पर चर्चा की थी. हालांकि, सैनिकों को पीछे हटाने की प्रक्रिया में चीन (China) की ओर से कोई गतिविधि नहीं की गई.  

India-China के के मिलिट्री कमांडर्स के बीच 12वें दौर की बैठक, डिसइंगेजमेंट पर होगी चर्चा
फाइल फोटो

नई दिल्ली: भारत और चीन के मिलिट्री कमांडर्स के बीच 12वें दौर की अहम मीटिंग (India and China Corps Commander-Level Meet) आज सुबह साढ़े दस बजे शुरू हुई. बैठक एलएसी पर चीन की तरफ मोल्डो गैरिसन में होगी. जानकारी के मुताबिक इस दौरान पूर्वी लद्दाख से सटी लाइन ऑफ कंट्रोल (LAC) के गोगरा और हॉट स्प्रिंग जैसे इलाकों से डिसइंगेजमेंट यानी सैनिकों को पीछे हटने पर बातचीत होगी.

सीमा पर तनाव बरकरार

गौरतलब है कि दोनों देशों के इस समय LAC पर संवेदनशील क्षेत्रों में 50,000 से 60,000 सैनिक तैनात हैं. इससे पहले 11वें दौर की बातचीत नौ अप्रैल को एलएसी से भारतीय सीमा की ओर चुशुल सीमा पर हुई थी जो करीब 13 घंटे चली थी. भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व लेफ्टिनेंट जनरल पीजीके मेनन करेंगे, जो लेह स्थित 14 वीं कोर के कमांडर हैं. भारतीय सेना के सूत्रों के मुताबिक दोनों देशों के बीच गोगरा हाइट्स और अन्य क्षेत्रों से सैनिकों को हटाने पर चर्चा हो सकती है. 

ये भी पढ़ें- Border Dispute पर सख्त हुई Mizoram पुलिस, Assam के सीएम Himanta Biswa Sarma पर FIR दर्ज

चीन को दो टूक

बारहवें दौर की वार्ता विदेश मंत्री एस जयशंकर (MEA S Jaishankar) द्वारा अपने चीनी समकक्ष वांग यी को इस बात से दो टूक अवगत करा देने के करीब दो हफ्ते बाद हो रही है कि पूर्वी लद्दाख में मौजूदा स्थिति के लंबा खींचने का प्रभाव द्विपक्षीय संबंधों पर नकारात्मक रूप से पड़ता नजर आ रहा है.

ये भी पढ़ें- Corona: Kerala में हालात बेकाबू, लगातार चौथे दिन 20 हजार से से ज्यादा नए केस

भारत इस बात पर जोर देता आ रहा है कि दोनों देशों के बीच संपूर्ण संबंधों के लिए देपसांग, हॉट स्प्रिंग्स और गोगरा में सैनिकों को हटाने सहित अन्य लंबित मुद्दों का समाधान आवश्यक है.

LIVE TV

 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.