नोट में लिखा 'लाशें नहीं गिननी', डॉक्टर ने पत्नी और बच्चों को मारा; Omicron को बताया वजह
X

नोट में लिखा 'लाशें नहीं गिननी', डॉक्टर ने पत्नी और बच्चों को मारा; Omicron को बताया वजह

Kanpur shocking triple murder case: पेशे से डॉक्टर ने अपनी पत्नी और दो बच्चों को मौत के घाट उतार दिया. जिसकी जानकारी उसने अपने भाई को मैसेज करके दी. मैसेज मिलने के बाद भाई ने मौके पर पहुंचकर दरवाजा तोड़ा तो तीनों की लाशें अंदर पड़ी हुई थीं. जिसके बाद उसने पुलिस को सूचना दी. 

नोट में लिखा 'लाशें नहीं गिननी', डॉक्टर ने पत्नी और बच्चों को मारा; Omicron को बताया वजह

कानपुर: उत्तर प्रदेश (UP) के कानपुर से एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है. जहां पर एक डॉक्टर ने अपनी पत्नी और दो मासूम बच्चों को बेरहमी से मौत के घाट उतार दिया. इसके बाद डॉक्टर ने अपने भाई को मैसेज भेजकर पुलिस बुलाने को कहा. लेकिन भाई के पहुंचने से पहले ही आरोपी डॉक्टर फरार हो गया.

'नजारा देखकर उड़े होश'

मैसेज पढ़ते ही डॉक्टर का भाई मौके पर पहुंचा तो घर का दरवाजा बंद था. जब वो दरवाजा तोड़कर अंदर दाखिल हुआ तो उसके होश उड़ गए. घर के अंदर तीन लाशें देखकर उसने पुलिस को सूचना दी. डॉक्टर के भाई ने पुलिस को बताया कि जब वो वहां पहुंचा तो उसकी भाभी चंद्र प्रभा के साथ दोनों बच्चों की हत्या हो चुकी थी. पास में खून से सना हुआ हथौड़ा भी पड़ा हुआ था. मौके पर पहुंचकर पुलिस ने तीनों शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया. बताया जा रहा है कि डॉक्टर पिछले काफी समय से डिप्रेशन में था.

ये भी पढ़ें - Omicron से निपटने के लिए नई रणनीति, हर दिन चेकअप और 7वें दिन RT-PCR टेस्ट; जानें गाइडलाइन

'लाशें नहीं गिननी, कोरोना सबको मार डालेगा'

पुलिस को मौके से एक डायरी भी मिली है, जिसमें लिखे नोट में उसने हत्या की वजह कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन को बताया है. जिसमें उसने लिखा था कि अब लाशें नहीं गिननी है. इस नोट में कोविड फोबिया होने की बात भी लिखी है.

डॉक्टर सुशील ने अपने नोट में लिखा, 'मैं एक लाइलाज बीमारी से ग्रस्त हूं. ऐसे में परिवार को कष्ट में नहीं छोड़ सकता. सभी को मुक्ति के मार्ग पर छोड़कर जा रहा हूं. सारे कष्ट एक ही पल में दूर कर रहा हूं. अपने पीछे किसी को कष्ट में नहीं देख सकता था. मेरी आत्मा कभी मुझे माफ नहीं करती. अब लाशें नहीं गिननी हैं, ओमिक्रॉन सबको मार डालेगा. अपनी लापरवाही के चलते उस मुकाम पर फंस गया हूं, जहां से निकलना मुश्किल है.' 

ये भी पढ़ें- भारत में मिला Omicron का तीसरा केस, इस शहर में पहले मरीज की पुष्टि

मामले की जांच जारी

स्थानीय पुलिस के मुताबिक इंदिरा नगर में डिविनिटी आपर्टमेंट में डॉक्टर सुशील कुमार अपने परिवार के साथ रहते थे. इस घटना के बाद से पूरे इलाके में हड़कंप मचा हुआ है. मरने वाले लोगों में आरोपी डॉक्टर की पत्नी चंद्रप्रभा (48), बेटा शिखर (18) और डॉक्टर की नाबालिग बेटी 10वीं की छात्रा थी. वहीं पुलिस फरार डॉक्टर को ढूंढने का प्रयास कर रही है. इस मामले में पुलिस की जांच जारी है.

Trending news