कठुआ गैंगरेप हत्या: PDP मांग सकती है BJP के 2 मंत्रियों का इस्तीफा, आरोपियों के समर्थन सभा में हुए थे शामिल

राज्य सरकार में भाजपा कोटे के ये दोनों मंत्री बच्ची से बलात्कार और हत्या के आरोपियों के समर्थन में हुई सभा में शामिल हुए थे और सीबीआई जांच की मांग की थी.

कठुआ गैंगरेप हत्या: PDP मांग सकती है BJP के 2 मंत्रियों का इस्तीफा, आरोपियों के समर्थन सभा में हुए थे शामिल
उन्नाव और कठुआ में हुई बलात्कार की घटना के खिलाफ बेंगलुरु में प्रदर्शन करते लोग. (IANS/13 April, 2018)

जम्मू: जम्मू-कश्मीर में सत्तारूढ़ पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) का नेतृत्व शनिवार (14 अप्रैल) को बैठक कर कठुआ में आठ साल की बच्ची के साथ सामूहिक बलात्कार एवं हत्या के मामले के बाद पैदा हुए हालात की समीक्षा करेगा. पीडीपी के सूत्रों के मुताबिक मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती इस बैठक की अध्यक्षता करेंगी और वह भाजपा से यह कह सकती हैं कि वह अपने मंत्रियों लाल सिंह और चंद्र प्रकाश गंगा को इस्तीफा देने के लिए कहें.

जम्मू-कश्मीर में पीडीपी और भाजपा की गठबंधन सरकार है. राज्य सरकार में भाजपा कोटे के ये दोनों मंत्री बच्ची से बलात्कार और हत्या के आरोपियों के समर्थन में हुई सभा में शामिल हुए थे और सीबीआई जांच की मांग की थी. पीडीपी प्रवक्ता रफी अहमद मीर ने कहा, ‘‘पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की 14 अप्रैल को बैठक हो रही है. इस बैठक में राजनीति, पार्टी और राज्य में प्रशासन से जुड़े महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा होगी.’’ उन्होंने कहा कि इस बैठक में पार्टी के नेता जम्मू में पैदा हुए हालात के बारे में भी चर्चा कर सकते हैं.

यह पूछे जाने पर कि क्या महबूबा ने भाजपा को अपने दो मंत्रियों को बर्खास्त करने का अल्टीमेटम दिया है तो मीर ने कहा कि इस मामले पर दोनों गठबंधन सहयोगियों के बीच चर्चा होगी और इसके बाद हम देखेंगे क्या होता है. उन्होंने कहा, ‘‘महबूबा कमजोर नहीं हुई हैं, बल्कि उन्होंने मामले की जांच पूरी करवाई है.’’

एक अन्य प्रश्न के उत्तर में मीर ने कहा कि पर्यटन मंत्री और महबूबा के भाई तसद्दुक मुफ्ती ने ‘सच कहा है.’ तसद्दुक मुफ्ती ने बीते 12 अप्रैल को कहा था कि ‘पीडीपी अपराध में भाजपा के साथ भागीदार बनी है और राज्य के निवासियों के बीच धीरे-धीरे पैदा हो रही दरार से भीषण रक्तपात की स्थिति पैदा हो सकती है.’ 

कठुआ गैंगरेप : भाजपा मंत्रियों ने दिया इस्तीफा
कठुआ बलात्कार एवं हत्या मामले के आरोपियों के समर्थन में एक रैली में हिस्सा लेने को लेकर निशाने पर आये भाजपा के दो मंत्रियों ने शुक्रवार (13 अप्रैल) को प्रदेश पार्टी अध्यक्ष सत शर्मा को अपने इस्तीफे सौंप दिये. शर्मा ने कहा, ‘‘हां, दोनों मंत्रियों ने मुझे अपने इस्तीफे सौंप दिये हैं.’’ उन्होंने कहा कि कल जम्मू में भाजपा विधायक दल की बैठक होगी है जिसमें इस मुद्दे पर आगे के कदम पर चर्चा होगी.

यह पूछे जाने पर कि क्या वह इस्तीफों को मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती को भेजेंगे? शर्मा ने कहा, ‘‘हम इस पर और अन्य मुद्दों पर कल पार्टी की विधायक दल की बैठक में चर्चा करेंगे.’’ वन मंत्री चौधरी लाल सिंह और उद्योग मंत्री चंद्र प्रकाश रैली में शामिल हुए थे. विपक्षी नेशनल कॉन्फ्रेंस और कांग्रेस ने मांग की थी कि महबूबा दोनों मंत्रियों को बर्खास्त करें.

कठुआ बलात्कार मामला: निर्मल सिंह ने जांच को सही ठहराया
जम्मू-कश्मीर के उप मुख्यमंत्री और राज्य भाजपा के वरिष्ठ नेता निर्मल सिंह ने कठुआ में आठ साल की बच्ची से बलात्कार और हत्या के मामले में पुलिस की अपराध शाखा द्वारा की गई जांच को सही ठहराया है. दोषियों को दंडित किए जाने की जरूरत पर जोर देते हुए उन्होंने यह भी कहा कि अगर कोई जांच से संतुष्ट नहीं है तो वह अदालत जा सकता है और अपनी बात रख सकता है.

अपराध शाखा की ओर से की गई जांच को सही ठहराते हुए उप मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘गवाहों को अदालत लाया गया और अदालत को समय समय पर जांच के बारे में अवगत कराया गया है. हम इस बात को लेकर स्पष्ट हैं कि (अपराध शाखा की ओर से की गई) जांच उचित थी.’

(इनपुट एजेंसी से भी)