श्रीनगर में 'खेलो कश्मीर' का आयोजन, 700 युवाओं ने लिया हिस्सा

शासन का मानना है कि ऐसे कार्यक्रम कश्मीर में माहौल को सामान्य बनाने के लिए बेहद जरूरी है. साथ ही कश्मीर के युवाओं में जो हुनर हैं वह परवान चड़ेगा, उसे नई राह मिलेगी. कश्मीर में युवा जो गलत रास्ता अपना रहे हैं, उन्हें ऐसे आयोजनों से सही राह पर चलने की प्रेरणा मिलेगी. 

श्रीनगर में 'खेलो कश्मीर' का आयोजन, 700 युवाओं ने लिया हिस्सा

श्रीनगर: जम्मू कश्मीर की राजधानी श्रीनगर के इंडोर स्टेडीयम में मंगलवार को मेगा स्पोर्ट्स इवेंट का आयोजन किया गया. प्रशासन का मानना है कि ऐसे कार्यक्रम कश्मीर में माहौल को सामान्य बनाने के लिए बेहद जरूरी है. साथ ही कश्मीर के युवाओं में जो हुनर हैं वह परवान चड़ेगा, उसे नई राह मिलेगी. कश्मीर में युवा जो गलत रास्ता अपना रहे हैं, उन्हें ऐसे आयोजनों से सही राह पर चलने की प्रेरणा मिलेगी. जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 को रद्द करने के बाद पहला खेल आयोजन हैं, जिसका उद्घाटन मंगलवार को यहां इंडोर स्टेडियम में किया गया.

इस इवेंट में कश्मीर के कोने कोने से सैंकड़ो युवाओं ने हिस्सा लिया. इसका आयोजन स्वंय सेवी संस्था जम्मू कश्मीर डिवेलप्मेंट फूडेशन और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के जम्मू कश्मीर प्रभारी अविनाश राय खन्ना की ओर से कराया गया था.

अविनाश राइ खन्ना ने कहा, 'एक साथ आने और एक कार्यक्रम में 700 युवाओं की भागीदारी एक बड़ी बात है. जब वे घर जाएंगे, तो वे बच्चों के लिए इस तरह की गतिविधियों के बारे में संदेश देंगे.' 

700 युवा इस कार्यक्रम में भाग लेने के लिए आये थे. युवाओं का कहना था करीब चार महीनों के अंतराल के बाद ऐसा खेल का मेगा इवेंट कश्मीर में हुआ. युवा मानते हैं कि ऐसे इवेंट हुनरमंद युआओं को अपना हुनर दिखाने और खुद को साबित करने के लिए बेहद लाभदायक रहेंगे. ऐसे इवेंट कश्मीर में होने चाहिए साथी यहां जिन युवाओं को नशे की लत लगी है, या गलत रास्ते पर चल पड़े हैं उनको खेल में आना चाहिए, क्योंकि खेल में आने से ना सिर्फ सेहत ठीक रहता है, बल्कि अछा मुस्तकबिल भी हाथ लगता है.

इवेंट में हिस्सा लेने वाले एक युवा आकिब नए कहा, 'यह जरूरी हैं ऐसे इवेंट होने चाहिए इसे एक खिलाड़ी अपना टैलेंट दिखा सकते हैं. सब लोगों को खेल में आना चाहिए इससे सेहत ठीक रहता है और मुस्तकबिल भी संवरता है. यह बहुत जरूरी है ऐसे इवेंट होने चाहिए.

एक युवती मंशा बशीर का कहना है कि खेल बहूत जरूरी है, जो बच्चे नशे की राह पर चल पड़े हैं, उन्हें खेल की राह पर लौटना चाहिए. इंफ्रास्ट्रक्चर और मिलना चाहिए ताकि खिलाड़ियों को सही प्लेटफॉर्म मिले.

इस आयोजन में जम्मू-कश्मीर प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी जैसे डिविजनल कमिश्नर और श्रीनगर के डिप्टी कमिश्नर मौजूद थे. इस मौके पर उपस्थित सीआरपीएफ के आईजीपी रविदीप साही ने कहा कि सीआरपीएफ कश्मीर में खेल गतिविधियों को प्रोत्साहित करने के लिए आगे रहेगी और आयोजकों को इस इवेंट के करने के लिए बधाई दी.

ये भी देखें-: