CM की कुर्सी से उतरते ही शिवराज सिंह चौहान बन गए 'द कॉमन मैन ऑफ मध्य प्रदेश'

एक पूर्व मुख्यमंत्री के द्वारा खुद को राज्य का एक आम आदमी लिखना सोशल मीडिया यूजर्स को काफी पसंद आ रहा है.

CM की कुर्सी से उतरते ही शिवराज सिंह चौहान बन गए 'द कॉमन मैन ऑफ मध्य प्रदेश'
पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के बारे में अटकलें चल रही थीं कि वह केंद्र में जा सकते हैं. (फाइल फोटो)

भोपाल: मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सरकार जाने के बाद से दो बार अपना ट्विटर प्रोफाइल बदला है. उन्होंने ट्विटर पर खुद को 'द कॉमन मैन ऑफ मध्य प्रदेश' (मध्य प्रदेश का आम आदमी) बताया है. इससे पहले इस्तीफा देने के तुरंत बाद शिवराज ने अपने ट्विटर प्रोफाइल पर लिखा था, 'एक्स चीफ मिनिस्टर ऑफ मध्य प्रदेश, इंडिया' लेकिन कुछ ही घंटों के बाद उन्होंने इसे बदल दिया.

एक पूर्व मुख्यमंत्री के द्वारा खुद को राज्य का एक आम आदमी लिखना सोशल मीडिया यूजर्स को काफी भा रहा है. यूजर्स शिवराज के प्रोफाइल का स्क्रीनशॉट लेकर काफी वाहवाही कर रहे हैं. लगातार एक के बाद ट्वीट करके शिवराज जता रहे हैं कि वह विपक्ष में रहकर पार्टी के लिए जमीनी स्तर पर काम करते रहेंगे.

हाल ही में पूर्व सीएम ने कहा, ''मध्यप्रदेश मेरा मंदिर है, और यहां की जनता मेरी भगवान. मेरे घर के दरवाज़े आज भी प्रदेश के हर नागरिक के लिए हमेशा खुले हैं, वो बिना कोई हिचकिचाहट मेरे पास आ सकते हैं, और मैं हमेशा की तरह उनकी यथासंभव मदद करता रहूंगा.'' इस ट्वीट के जरिए शिवराज सिंह चौहान ने राजनीतिक हलकों में चल रही उस चर्चा को विराम दे दिया है जिसमें उनके केंद्र में जाने की अटकलें लगाई जा रही थीं.

मध्य प्रदेशः इस्तीफा देने के बाद बोले शिवराज- 'हार की जिम्मेदारी मेरी, मेरी और सिर्फ मेरी'
बता दें कि एमपी में 230 विधानसभा सीटें है और बहुमत के लिए 116 विधायकों की जरूरत है. विधानसभा चुनाव में बीजेपी को 41 फीसदी वोट मिले लेकिन सिर्फ 109 सीटें ही मिलीं. कांग्रेस के खाते में 114 सीटें आई हैं. चार निर्दलीय, बसपा के दो और सपा के एक विधायक के समर्थन का कांग्रेस दावा कर रही है. इस तरह कांग्रेस 121 विधायक अपने पास होने का दावा कर रही है. राज्यपाल आनंदीबेन ने कमलनाथ को प्रदेश का मुख्यमंत्री बनाया है. 17 सितंबर को कांग्रेस नेता प्रदेश के मुखिया के पद की शपथ लेंगे.