MP: लोकायुक्त के बिछाए जाल में फंसा नापतोल विभाग का जिला इंचार्ज, रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार

पेट्रोल पंप मालिक सुरेश रातड़िया का कहना है कि उनके एस्सार पेट्रोल पंप की मशीन में नाप तोल में गड़बड़ी करने के लिए मजबूर करने और मशीनों में स्टेपिंग कराने के नाम पर रिश्वत की मांग की गई थी. 

MP: लोकायुक्त के बिछाए जाल में फंसा नापतोल विभाग का जिला इंचार्ज, रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार
प्रतीकात्मक तस्वीर

आगर मालवा: मध्य प्रदेश के आगर मालवा जिले में लोकायुक्त की टीम ने नाप तोल विभाग में जिला इंचार्ज पंकज कनोडिया को 20 हजार रूपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों धर दबोचा. आरोप है कि पेट्रोल पंप मालिक से पेट्रोल पंप की मशीन के नापतोल में गड़बड़ी करने के लिए पंकज कनोडिया ने रिश्वत की मांग की थी. जिसके बाद पेट्रोल पंप मालिक मोड़ी निवासी सुरेश रातड़िया ने शिकायत दर्ज कराई थी. जिसके तहत कार्रवाई करते हुए उज्जैन लोकायुक्त की टीम ने जाल बिछाकर नापतोल अधिकारी को रिश्वत लेते हुए पकड़ लिया.

पेट्रोल पंप मालिक सुरेश रातड़िया का कहना है कि उनके एस्सार पेट्रोल पंप की मशीन में नाप तोल में गड़बड़ी करने के लिए मजबूर करने और मशीनों में स्टेपिंग कराने के नाम पर रिश्वत की मांग की गई थी. रिश्वत के नाम पर कुल 96 हजार रुपए की डिमांड की गई थी. दोनों के बीच किश्तों में पैसे देने की बात तय हुई. आरोपी अधिकारी ने रिश्वत की पहली किश्त के तहत 25 हजार रु पहले ही ले लिए थे. पीड़ित ने लोकायुक्त को सारी जानकारी देते हुए नापतोल अधिकारी के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई. 

इसके बाद पेट्रोल पंप मालिक रिश्वत की दूसरी किश्त देने के लिए 25 दिसंबर को देने पहुंचा. लोकायुक्त की टीम ने पंकज कनोडिया को ट्रैप करते हुए मौके से 20 हजार की रिश्वत लेते हुए पकड़ लिया. लोकायुक्त टीम के मुताबिक आरोपी पंकज कनोडिया के इंदौर स्थित निवास पर भी विभाग द्वारा सर्च अभियान चलाया जा रहा है. पंकज कनोडिया को फिलहाल हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है.