BJP सांसद और उपचुनाव के प्रत्याशी का लोगों ने किया विरोध, कहा- अब वोट मांगने मत आना

शुक्रवार को सांसद नंदकुमार सिंह चौहान और उपचुनाव में मांधाता विधानसभा के प्रत्याशी नारायण सिंह पटेल पट्टे की जमीन बांटने के लिए गए थे.

BJP सांसद और उपचुनाव के प्रत्याशी का लोगों ने किया विरोध, कहा- अब वोट मांगने मत आना

प्रमोद सिन्हा/खंडवा: मध्य प्रदेश में खंडवा जिले के ओंकारेश्वर में पट्टे बांटने गए सांसद नंदकुमार सिंह चौहान और मांधाता विधानसभा क्षेत्र से बीजेपी के प्रत्याशी नारायण सिंह पटेल को जनता के विरोध का सामना करना पड़ा. इस दौरान स्थानीय लोगों ने उन्हें घेर कर सवालों की बौछार लगा दी. इसका जवाब न तो सांसद के पास था और ना ही नारायण सिंह पटेल के पास. जिसकी वजह से दोनों को दबे पांव वापस लौटना पड़ा. 

1208 स्कूलों में टॉयलेट नहीं, देह व्यापार का पर्दाफाश

विरोध के बाद लौटे सांसद और विधानसभा प्रत्याशी
दरअसल, शुक्रवार को सांसद नंदकुमार सिंह चौहान और उपचुनाव में मांधाता विधानसभा के प्रत्याशी नारायण सिंह पटेल पट्टे की जमीन बांटने के लिए गए थे. इसी दौरान स्थानीय लोगों ने पट्टा की जमीन के आवंटन को लेकर सरकार पर सवाल उठा दिया. लोगों ने कहा कि जो लोग यहां कई वर्षों से रह रहे हैं उनका नाम पट्टे की लिस्ट में नहीं है. जबकि जो लोग कुछ दिन से यहां आकर रहे हैं, उनका नाम लिस्ट में है और उन्हें जमीन का आवंटन किया किया जा रहा है.

महिलाओं ने कहा अब वोट मांगने मत आना
इस दौरान ओंकारेश्वर की महिलाओं ने सांसद और प्रत्याशी दोनों को खूब खरी-खोटी सुनाई. महिलाओं ने तो सासंद और प्रत्याशी को यह तक भी कह दिया कि अब वोट मांगने तभी आना, जब पट्टा की सूची पुराने निवासियों की नाम होगा. महिलाओं की ये बाते सुनकर सांसद और प्रत्याशी दोनों भारत माता की जय के नारे लगाते हुए लौट गए.

चुनाव तारीखों की घोषणा से पहले शिवराज की जमीनी जमावट, एक ही दिन में करीब 300 अफसर बदले

क्या है पूरा मामला?
आपको बता दें कि ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग सतपुड़ा की पहाड़ियों पर बसा है. मंदिर होने के कारण वर्षों से यहां पर लोग आकर बस गए हैं. इस पूरे क्षेत्र की जमीन वन विभाग के अंतर्गत आती है. जो लोग यहां वर्षों से मकान बनाकर रह रहे हैं  उनके पास उनकी जमीन के कागजात नहीं हैं. सरकारी रिकॉर्ड में यह सभी लोग अतिक्रमणकारी हैं. जिसकी वजह से यह लोग वर्षों से अपने घर की जमीन के पट्टे की मांग करते आ रहे हैं.

बीच सड़क पर तलाक, तलाक, तलाक.. कह कर पति ने पत्नी को छोड़ा, मुकदमा दर्ज

ओंकारेश्वर के निवासियों को जमीन का पट्टा मिल सके, इसके लिए सीएम शिवराज सिंह चौहान ने दो दिन पहले ही यहां पर वर्षों से रह रहे लोगों को जमीन का पट्टा देने का ऐलान किया था. 

Watch Live TV-