close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मध्‍यप्रदेश में सूरज उगल रहा आग, ग्वालियर और खजुराहो में पारा 47 के पार

नौतपा के छठे दिन पर्यटन नगरी खजुराहो सर्वाधिक गर्म रही. मौसम के जानकारों के अनुसार 71 साल बाद ग्वालियर में पारा इतना दर्ज किया गया है. इससे पहले 30 मई 1947 को ग्वालियर का तापमान 48.3 डिसे दर्ज किया गया था.

मध्‍यप्रदेश में सूरज उगल रहा आग, ग्वालियर और खजुराहो में पारा 47 के पार
30 मई 1947 को ग्वालियर का तापमान 48.3 डिसे दर्ज किया गया था.
Play

नई दिल्लीः नौतपा के चलते इन दिनों मध्य प्रदेश में गर्मी का सितम जारी है. ग्वालियर चंबल अंचल में नौतपा के छठवें दिन सूरज कहर बनकर लोगों पर टूटा. जहां गर्मी से लोगों का बुरा हाल है. गर्मी की वजह से अस्पतालों में भी मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. जैसे-जैसे दिन चढ़ता जाता है वैसे ही गर्मी का तापमान भी बढ़ता जा रहा है. आज की बात करें तो मौसम विभाग के अनुसार सुबह 12 बजे तक तापमान 46 डिग्री तक रहने की संभावना है, वहीं दोपहर तक तापमान के 47 डिग्री तक पहुंचने की संभावना जताई जा रही है. 

ग्वालियर चंबल अंचल में 3 दिन से लगातार 45 डिग्री तापमान बना हुआ है और आगे आने वाले दिनों में भी यह संभावना जताई जा रही है कि तापमान में अभी और भी वृद्धि हो सकती है. बता दें कि उत्तर-पश्चिमी हवाओं के चलते यहां गर्म हवाओं का असर काफी देखने को मिल रहा है. दिन में धूप की तपिश और गर्मी इतनी हो गई है कि लोगों को घर से निकलना भी मुश्किल हो गया है. दोपहर के समय शहर की सड़कों पर सन्नाटा सा पसर जाता है. यही नहीं गलियां भी सूनी नजर आने लगी हैं. 

दिल्ली में गर्मी का आलम जारी, अगले कुछ दिनों 40 डिग्री के आस-पास ही रहेगा तापमान

इसी क्रम में गुरुवार को खजुराहो और नौगांव में पारा 47 डिग्री तक जा पहुंचा. खरगोन और रीवा में अधिकतम तापमान 46 डिग्री रिकार्ड हुआ. इसके अलावा खंडवा, दमोह, रायसेन, शाजापुर, राजगढ़, गुना, उमरिया, सतना, सीधी, टीकमगढ़ में तापमान 45 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. वर्तमान में एक ट्रफ (द्रोणिका लाइन) दक्षिणी मध्य प्रदेश से विदर्भ के पश्चिम क्षेत्र से उत्तरी कर्नाटक तक बना हुआ है. जिसके चलते वातावरण में कुछ नमी आ रही है. इस वजह से आसमान पर बादल आ रहे हैं.

फिलहाल बारिश की कोई संभावना नहीं, 45 डिग्री के पार भी जा सकता है पारा

तापमान बढ़े हुए रहने के कारण ग्वालियर, मुरैना, सागर, नीमच, जबलपुर, सिवनी, मंडला, बालाघाट, विदिशा, छिंदवाड़ा, होशंगाबाद, रायसेन, हरदा जिले में गरज-चमक के साथ हल्की बौछारें पड़ सकती हैं. राजस्थान की ओर से चली उत्तर-पश्चिमी हवाओं ने गुरुवार को ग्वालियर-चंबल और बुंदेलखंड क्षेत्र को झुलसा कर रख दिया. नौतपा के छठे दिन पर्यटन नगरी खजुराहो सर्वाधिक गर्म रही. मौसम के जानकारों के अनुसार 71 साल बाद ग्वालियर में पारा इतना दर्ज किया गया है. इससे पहले 30 मई 1947 को ग्वालियर का तापमान 48.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था.