close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पश्चिम बंगाल में फैली राजनीतिक हिंसा के रोकथाम के लिए उज्जैन पहुंचे पुजारी, करेंगे महारुद्राभिषेक

सभी ने मिलकर देश में शांति कायम करने के लिए महाकाल की शरण में आने का फैसला लिया है. बता दें इन 40 परिवारों में से सभी परिवार व्यवसाय से संबंध रखते हैं औ इनका मानना है की हिंसा के कारण इनका व्यवसाय भी चौपट हो रहा है.

पश्चिम बंगाल में फैली राजनीतिक हिंसा के रोकथाम के लिए उज्जैन पहुंचे पुजारी, करेंगे महारुद्राभिषेक
पुजारी बंगाल में हिंसा की रोकथाम के लिए महारुद्राभिषेक करेंगे (फाइल फोटो)

उज्जैनः पश्चिम बंगाल में राजनैतिक हिंसा का दौरा जारी है, जिसमें अब तक राजतीनिक और गैर-राजनीतिक दलों से संबंध रखने वाले कई लोगो की हत्याएं हो चुकी हैं. ऐसे में पश्चिम बंगाल में फैला हिंसा का दौर है कि खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा, जिसके चलते अब हिंसा को रोकने और बंगाल में शान्ति के लिए बंगाल के करीब 40 से अधिक लोगों ने बाबा महाकाल की शरण ली है. दरअसल, महाकाल मंदिर की यज्ञ शाला में तीन दिनी यज्ञ हवन पूजा से 30 से अधिक पण्डे पुजारी बंगाल में हिंसा की रोकथाम और देश में भर में अच्छी बारिश के लिए कामना करते हुए यज्ञ करवा रहे हैं. 

बंगाल में शांति और देश भर में अच्छी बारिश की कामना करने के लिए महाकाल मंदिर में आज से तीन दिनी महारुद्राअभिषेक की शुरुआत राजस्थान से आये पंडित पुजारियों ने करवाई. दरअसल, पश्चिम बंगाल कई दिनों से हिंसा की चपेट में है और बंगाल के कोलकाता में रहने वाले की हिंसा को लेकर काफी चिंतित है, ऐसे में इन सभी ने मिलकर देश में शांति कायम करने के लिए महाकाल की शरण में आने का फैसला लिया है. बता दें इन 40 परिवारों में से सभी परिवार व्यवसाय से संबंध रखते हैं औ इनका मानना है की हिंसा के कारण इनका व्यवसाय भी चौपट हो रहा है.

उज्जैन के डाक्टरों का अनोखा विरोध प्रदर्शन, सिर पर हेलमेट और हाथों में डंडा लेकर किया मरीजों का इलाज

इसके अलावा वह देश भर में फैले जलसंकट की वजह से भी आम लोगों को लेकर चिंतित हैं. बारह ज्योतिर्लिंगों में से एक महाकाल मंदिर में सभी 40 से अधिक बंगाल निवासी श्रद्धालु राजस्थान और महाकाल मंदिर के पुजारियों से महा रुद्राभिषेक करावा रहे हैं, जो कि तीन दिनों जिसका उद्देश्य बंगाल में शान्ति और देश भर में अच्छी बारिश की कामना है आज से यज्ञ शुरू करवाएंगे. आज से शुरू हुआ यह यज्ञ रविवार तक चलेगा जिसमें उज्जैन के भी 20 से अधिक पंडित हिस्सा लेंगे और देश में शांति के लिए महाकाल से प्रार्थना करेंगे.