close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सागर: डॉक्टरों की बड़ी लापरवाही, जिंदा बुजुर्ग को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया मुर्दाघर

बीना थाना प्रभारी अनिल मौर्य मृत का पोस्टमार्टम कराने पहुंचे और कíमयों ने काशीराम को उठाने की कोशिश की तो उसकी सांसें चल रही थीं. वृद्ध से जब बात की तो वह फूटफूट कर रोने लगा. उसे तत्काल अस्पताल में दुबारा भर्ती कराया गया.

सागर: डॉक्टरों की बड़ी लापरवाही, जिंदा बुजुर्ग को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया मुर्दाघर
प्रतीकात्मक तस्वीर

सागर: मध्य प्रदेश के सागर जिले मे चिकित्सकों की लापरवाही का बड़ा मामला सामने आया है. एक बुजुर्ग को मृत घोषित कर पोस्टमार्टम के लिए मुर्दाघर भेज दिया, मगर वह वृद्ध जीवित था, यह राज शुक्रवार की सुबह खुला. हालांकि बाद में वृद्ध की मौत हो गई. 

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, काशीराम का बीना के अस्पताल में इलाज चल रहा था. गुरुवार रात 9 बजे अस्पताल के चिकित्सक ने काशीराम को मृत घोषित करते हुए एक कर्मचारी से पुलिस को मेमो भिजवाया था, जिसमें वृद्ध किशन पिता कशीराम सोनी (72) निवासी नौगांव छतरपुर की इलाज के दौरान मौत होने की बात लिखी थी. मेमो के आधार पर पुलिस ने मर्ग कायम कर लिया. 

बीना थाना प्रभारी अनिल मौर्य मृत का पोस्टमार्टम कराने पहुंचे और कíमयों ने काशीराम को उठाने की कोशिश की तो उसकी सांसें चल रही थीं. वृद्ध से जब बात की तो वह फूटफूट कर रोने लगा. उसे तत्काल अस्पताल में दुबारा भर्ती कराया गया. इसके बाद फिर से इलाज शुरू किया गया. इलाज के दौरान आज शुक्रवार सुबह 10.20 बजे वृद्ध की मौत हो गई. 

जिला मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. एस.आर. रोशन ने माना कि इस मामले में डॉक्टर अविनाश सक्सेना की लापरवाही सामने आई है. इस घटना की जांच कराकर कार्रवाई की जाएगी.