स्पाइसजेट ने प्रज्ञा ठाकुर को हुई असुविधा पर खेद जताया, कहा- सुरक्षा सर्वोपरि

एयरलाइन ने कहा कि उसके स्टाफ को जानकारी नहीं थी कि वह व्हीलचेयर यात्री हैं.

स्पाइसजेट ने प्रज्ञा ठाकुर को हुई असुविधा पर खेद जताया, कहा- सुरक्षा सर्वोपरि
एयरलाइन स्पाइसजेट ने भोपाल की सांसद को हुई असुविधा को लेकर खेद जताया.

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी (BJP) सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर (Pragya Singh Thakur) की शिकायत और बुरे बर्ताव को लेकर विरोध पर प्रतिक्रिया देते हुए बजट एयरलाइन स्पाइसजेट (SpiceJet) ने रविवार को भोपाल की सांसद को हुई असुविधा को लेकर खेद जताया. साथ ही कहा कि एयरलाइन के लिए यात्रियों की सुरक्षा सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है. अपने स्पष्टीकरण में एयरलाइन ने कहा कि ठाकुर को पूर्व आवंटित सीट पर बैठने की अनुमति नहीं थी, क्योंकि यह पहली पंक्ति-आपातकालीन पंक्ति- में था, जहां व्हीलचेयर वाले यात्रियों को सीटें आवंटित नहीं की जाती हैं. एयरलाइन ने कहा कि उसके स्टाफ को जानकारी नहीं थी कि वह व्हीलचेयर यात्री हैं, क्योंकि उन्होंने एयरलाइन के जरिए व्हीलचेयर बुक नहीं किया था और अपने व्हीलचेयर पर आई थीं.

स्पाइसजेट को शनिवार की शाम प्रज्ञा ठाकुर के नाराजगी का सामना करना पड़ा और उन्होंने हंगामा खड़ा किया और दिल्ली से उड़ान भरने के बाद एयरलाइन के स्टाफ के बुरे बर्ताव को लेकर स्थानीय हवाईअड्डे पर विरोध दर्ज कराया.

शिकायत दर्ज कराई थी
उन्होंने कहा कि प्रज्ञा ठाकुर ने दिल्ली से एसजी 2489 से उड़ान भरने के बाद निजी वाहक के खिलाफ राजा भोज हवाई ड्डे के निदेशक से शिकायत दर्ज कराई.

प्रज्ञा उतरी नहीं
सूत्रों ने कहा कि भोपाल हवाईअड्डे पर विमान के लैंड करने के बाद प्रज्ञा उतरी नहीं और विमान में अपनी सीट पर बैठी रहीं. काफी आग्रह के बाद वह आखिरकार उतरी और शिकायत दर्ज कराई.

व्हीलचेयर पर हवाईअड्डे में आईं
स्पाइसजेट के एक प्रवक्ता ने कहा, "स्पाइसजेट को 21 दिसंबर को स्पाइसजेट की उड़ान एसजी 2498 (दिल्ली-भोपाल) में प्रज्ञा ठाकुर के लिए विशेष सुविधा दी थी. उन्होंने पहले सीट 1ए बुक कराया था और अपने व्हीलचेयर पर हवाईअड्डे में आईं.

वह एक व्हीलचेयर यात्री हैं
दिल्ली-भोपाल की उड़ान को बॉम्बार्डियर विमान द्वारा संचालित किया जाता है. इस विमान में पहली पंक्ति इमरजेंसी पंक्ति होती है और इसे व्हीलचेयर वाले यात्रियों को आवंटित नहीं की जाती है. चूंकि ठाकुर अपनी व्हीलचेयर के साथ आई थीं और जो एयरलाइन के जरिए बुक नहीं था, स्टाफ को इस तथ्य की जानकारी नहीं थी कि वह एक व्हीलचेयर यात्री हैं."