शिक्षक या गुंडा! 8 छात्राओं की स्कूल में की पिटाई, 2 छात्राएं अस्पताल में भर्ती, इस वजह से मारा
X

शिक्षक या गुंडा! 8 छात्राओं की स्कूल में की पिटाई, 2 छात्राएं अस्पताल में भर्ती, इस वजह से मारा

 तेंदूखेड़ा में शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय की 8 छात्रों को एक शिक्षक ने  इतनी बेरहमी से पीटा कि दो छात्राओं को जिला अस्पताल में भर्ती करना पड़ा 

शिक्षक या गुंडा! 8 छात्राओं की स्कूल में की पिटाई, 2 छात्राएं अस्पताल में भर्ती, इस वजह से मारा

नरसिंहपुर:  कोरोना की दूसरी लहर कमजोर पड़ने के बाद अब ज्यादातर राज्यों में स्कूलों को खोला जा रहा है, वहीं कुछ राज्यों में इसे लेकर तैयारी की जा रही है. इसी क्रम में मध्य प्रदेश में भी स्कूलों को खुल गए है, तो नरसिंहपुर जिले की तेंदूखेड़ा में शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय की 8 छात्रों को पीटने की खबर सामने आ गई. यहां एक शिक्षक ने छात्रों को इतनी बेरहमी से पीटा कि दो छात्राओं को जिला अस्पताल में भर्ती करना पड़ा और बाकी छात्राएं रोती बिलखती रही.

कांग्रेस के बेरोजगार दिवस मनाए जाने पर बोले VD शर्मा, मध्य प्रदेश में एक लाख भर्तियां होने वाली हैं

जी हां, कोराना काल के बाद जैसे-तैसे स्कूल शुरू हुए और बच्चे नए जोश एवं उत्साह के साथ स्कूल जाने लगे पर आज जो घटना सामने आई वह बच्चों को डराने के लिए काफी है. मामला तेंदूखेड़ा के शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय का जहां स्कूल में होने वाली प्रार्थना के समय जब 8 बच्चियां क्लास से प्रार्थना स्थल तक नहीं पहुंच पाई, तो शिक्षक डीपी अग्रवाल वहां पहुंचे और बगैर कारण जाने छात्राओं को बेतहाशा पीटने लगे. इस दौरान उन्होंने यह भी नहीं देखा की किन छात्राओं को किस जगह मारा जा रहा है. 

किसी का कान बंद तो किसी को बुखार
शिक्षक की पिटाई से एक छात्रा का कान बंद हो गया तो दूसरी छात्रा को बुखार आ गया. बाकी 6 अन्य छात्राएं वही रोती बिलखती रही. छात्राओं के अनुसार प्रार्थना के पहले स्कूल की घंटी बजती है पर उनका कमरा काफी पीछे है और उन्हें प्रार्थना की घंटी सुनाई नहीं दी. जिसके बाद  शिक्षक डीपी अग्रवाल ने उनकी ताबड़तोड़ पिटाई कर दी.

1992 में हत्या करने के बाद 26 साल तक यहां छिपा रहा आरोपी, लेकिन कानून के लंबे हाथों से नहीं बच पाया

शिक्षा विभाग ने दिए जांच के आदेश
परिजनों को जानकारी मिली और वे स्कूल पहुंचे जहां दो छात्राओं को नरसिंहपुर रैफर किया गया हैं. उनका इलाज जारी है. वहीं बाकी छात्राएं की स्थिति स्पष्ट नहीं हो सकी है. स्कूल प्रशासन मीडिया के सामने नहीं आया हालांकि शिक्षा विभाग ने इस पूरे मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं.

WATCH LIVE TV

Trending news