MP की सियासत में हनीट्रैप की वापसी, VD शर्मा ने कमलनाथ पर लगाया यह आरोप, जानिए पूरा मामला

मध्य प्रदेश की राजनीति में एक बार फिर हनीट्रैप का मामला उठता नजर आ रहा है. बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ पर कई आरोप लगाए हैं. 

MP की सियासत में हनीट्रैप की वापसी, VD शर्मा ने कमलनाथ पर लगाया यह आरोप, जानिए पूरा मामला
वीडी शर्मा ने कमलनाथ पर लगाए कई आरोप

इंदौरः मध्य प्रदेश की सियासत में हनीट्रैप की चर्चा एक फिर तेज होती जा रही है. इंदौर पहुंचे बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ पर जमकर निशाना साधा. दरअसल, उमंग सिंघार प्रकरण मामले के बाद कमलनाथ ने कहा था कि ''कांग्रेस विधायक को बेवजह फंसाया जा रहा है. लेकिन भाजपा के लोग राजनीति नहीं करे, मेरे पास भी हनी ट्रैप की सीडी है और ओरिजनल पेन ड्राइव है.'' कमलनाथ के इस बयान के बाद आज वीडी शर्मा ने कहा कि कमलनाथ यह बताएं कि ये सीडी उनके पास आई कैसे? इस पूरे मामले की जांच होनी चाहिए. 

कमलनाथ के पास सीडी कहा से आई
वीडी शर्मा ने कहा कि कमलनाथ यह बताएं कि ये सीडी उनके पास आई कैसे? ''वीडी शर्मा ने कहा कि तत्कालीन कांग्रेस सरकार जिसके मुख्यमंत्री कमलनाथ थे उनको एसआईटी गठित होने के बाद सीडी दी कैसे गयी. वीडी शर्मा ने कहा कि हनीट्रैप मामले की जांच उच्च न्यायालय कर रहा है. लेकिन पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ कह रहे हैं कि उनके पास सीडी है. उनका यह बयान इस बात की और इशारा करता है कि आप के मुख्यमंत्री काल में सबूतों के साथ छेड़खानी की गई है. ''

साक्ष्य प्रस्तुत करें या माफी मांगे कमलनाथः वीडी शर्मा 
''वीडी शर्मा ने कहा कि कमलनाथ या तो आपने झूठ बोला है और यदि झूठ बोला है तो मध्य प्रदेश की जनता से आपको माफी मांगनी चाहिए अन्यथा इन बातों के साक्ष्य प्रस्तुत करना चाहिए. उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में कह रहे है आग लगाओ. मतलब आप मध्य प्रदेश की सियासत को भड़काना चाहते हैं. वीडी शर्मा ने कहा कि कमलनाथ के पास अगर कोई भी सबूत है तो पेश करना चाहिए नहीं तो उन्हें प्रदेश की जनता से माफी मांगना चाहिए. मध्य प्रदेश में इस तरह की राजनीति नहीं चलेगी.'' 

उमंग सिंघार मामले के बाद फिर विवादों में हनीट्रैप
दरअसल, कांग्रेस विधायक उमंग सिंघार की 39 वर्षीय महिला मित्र सोनिया भारद्वाज ने उनके भोपाल स्थिति निजी बंगले पर खुदकुशी कर ली थी. रविवार दोपहर में शाहपुरा इलाके स्थित बंगले से सोनिया का शव बरामद किया गया था. घटना के वक्त सिंघार अपने विधानसभा क्षेत्र में थे. सूचना मिलते ही वह भोपाल पहुंच गए. इस मामले में सिंघार पर एफआईआर दर्ज हुई है. जिसके बाद कांग्रेस उनके बचाव में उतर आई. उमंग सिंघार कमलनाथ के करीबी माने जाते हैं. विधायक उमंग सिंघार के मामले में कमलनाथ शुरुआत में चुप थे. लेकिन कांग्रेस पार्टी के विधायकों द्वारा लामबंदी करने के बाद कमलनाथ ने इस मामले में उमंग सिंघार का बचाव करने का फैसला लिया. कमलनाथ ने चेतावनी भरे लहजे में कहा कि इस मामले में सरकार ओछी राजनीति ना करे, वरना परिणाम ठीक नहीं होंगे. हनीट्रैप की पेनड्राइव हमारे पास भी है. 

ये भी पढ़ेंः उपचुनाव जीतने वाले कांग्रेस विधायक ने ली शपथ, जानिए MP विधानसभा का गणित

कमलनाथ के इस बयान के बाद अब बीजेपी भी हमलावर नजर आ रही है. जिसकी बानगी आज वीडी शर्मा ने इंदौर में दिए बयानों से दिखा दी है. ऐसे में कहा जा सकता है कि मध्य प्रदेश की सियासत में हनीट्रैप का मामला एक सियासत का मुद्दा बन सकता है. 

क्या है हनीट्रैप मामला 
दरअसल हनीट्रैप का मामला 2019 का है जब कुछ महिलाओं ने प्रदेश के कुछ राजनेताओं और अफसरों को अपने जाल में घेरकर सीडी बनाई और उनसे पैसे ऐंठे. महिलाओं की गिरफ्तारी के बाद से इंदौर की कोर्ट में मामले पर सुनवाई चल रही है. मगर बहुत नेता मंत्री और अफसरों के काले कारनामे इस सीडी में हैं, जिसे हनीट्रैप कहा गया. अब बीजेपी कमलनाथ के इस बयान पर उनको घेर रही है और कह रही है कि कमलनाथ अब सरकार को ब्लैकमेल क्यों कर रहे हैं जो, करना था अपने कार्यकाल में करते. मंत्री विश्वास सारंग ने कहा की कमलनाथ का ये बयान दुर्भाग्यपूर्ण हैं और ऐसा लगता है कि वो ये बयान देकर सरकार को ब्लैकमेल करना चाहते हैं.

ये भी पढ़ेंः  'पति को इंजेक्शन दो मामा', मांग लेकर इंदौर पहुंची पीड़िता, सुनना तो दूर CM शिवराज ने देखा भी नहीं

WATCH LIVE TV