400 कर्मचारियों ने दिया सामूहिक इस्तीफा, धान का उठान ना होने से हैं नाराज

जिले की समितियों में परिवहन नहीं होने से 5 लाख क्विंटल धान जाम, परिवहन नहीं होने से बारिश में धान खराब हो रहा है.

400 कर्मचारियों ने दिया सामूहिक इस्तीफा, धान का उठान ना होने से हैं नाराज
सामूहिक इस्तीफा दिया

कवर्धा: कबीरधाम जिले के 90 सहकारी समितियों में कार्य करने वाले प्रबंधक और कर्मचारियों ने समितियों में रखे धान का परिवहन नहीं होने के कारण हो रही परेशानियों के चलते आज सामूहिक इस्तीफा दे दिया. कल से समितियों के ताले नही खुलेंगे.

खरीदे गए धान का परिवहन नहीं
कवर्धा के पुराने मंडीप्रांगण में आज कबीरधाम जिले के 90 समितियों के समिति प्रबंधक सहित सभी कर्मचारी जिनकी संख्या 400 है. इकट्ठा हुए और उन्होंने बताया कि कबीरधाम जिले के 90 समितियों में आज से 6 महीने पहले किसानों से खरीदे गए धान का परिवहन आज तक नहीं किया जा सका है.

रखा गया धान चोरी हो रहा
कर्मचारी संघ प्रदेश अध्यक्ष ईश्वर साहू ने बताया कि जिले के समितियों में लगभग 5 लाख क्विंटल धान रखा हुआ है जिसका परिवहन नहीं होने के चलते इन दिनों बारिश में धान खराब हो रहा है. धान में अंकुरण होने लगा है, धान की बोरियां भीग रही है. समितियों में रखे गए धान की रखवाली करनी पड़ रही है. साथ ही रखा गए धान के चोरी होने की खबरें भी आ रही हैं. जिनका खामियाजा हमें भुगतना पड़ रहा है.

इन्हीं तमाम प्रकार की परेशानियों के चलते समिति के प्रबंधकों द्वारा कई बार उच्च कार्यालय को धान के परिवहन किए जाने के संबंध में पत्राचार भी किया गया है.

सामूहिक इस्तीफा दिया
शिकायत के बावजूद धान रखा हुआ है और धान का उठाव नहीं हो पा रहा है. जिसके चलते अब नाराज परेशान इन समिति प्रबंधकों ने आज समितियों में काम करने वाले 400 कर्मचारियों सहित सामूहिक इस्तीफा दे दिया. सभी कर्मचारी जिले के रजिस्ट्रार उप पंजीयक सहकारी समितियों के दफ्तर पहुंचे और वहां पर अपना सामूहिक इस्तीफा सौंप दिया है.

समितियों में ताले
कर्मचारियों का कहना है कि इस प्रकार की परेशानियों के बीच में काम करने में असमर्थ हैं. जब तक धान का परिवहन नहीं होगा वह अपना काम बंद रखेंगे. उन्होंने कहा कि कल से अब समितियों के ताले नहीं खुलेंगे.

ये भी पढ़ें: MP में जुलाई के पहले सप्ताह से खुल सकते हैं कॉलेज और कोचिंग सेंटर, CM ने दिए संकेत

WATCH LIVE TV