मेले में घूमे, मंदिर में प्रसाद चढ़ाया, फिर रेलवे ट्रैक पर मिले नाबालिग प्रेमी-प्रेमिका के शव, सुसाइड नोट में लिखी ये बात

पुलिस ने बताया का मामले की जांच पड़ताल के दौरान पता चला कि दोनों नाबालिग हर दिन की तरह स्कूल गए हुए थे. लेकिन वे शाम तक वापस ही नहीं लौटे. दूसरे दिन दोनों के शव रेलवे ट्रैक पर मिले. मौके पर मिले सुसाइड नोट में लिखा था कि दोनों नाबालिग प्रेमी-प्रेमिका अपनी मर्जी से आत्महत्या कर रहे हैं.  

मेले में घूमे, मंदिर में प्रसाद चढ़ाया, फिर रेलवे ट्रैक पर मिले नाबालिग प्रेमी-प्रेमिका के शव, सुसाइड नोट में लिखी ये बात
सांकेतिक तस्वीर

सागरः सागर जिले में एक नाबालिग प्रेमी-प्रेमिका ने ट्रेन के आगे कूदकर मौत के गले लगा लिया. इस दौरान दोनों ने एक सुसाइड नोट भी छोड़ा था. जिसके आधार पर पुलिस ने बताया कि सुसाइड नोट में लिखा था कि वे दोनों एक-दूसरे से बेहद प्यार करते थे. खास बात यह है कि दोनों ने आत्महत्या के लिए किसी को जिम्मेदार नहीं बताया है. ऐसे में इस मामले में कई सवाल खड़े भी हो रहे हैं. दोनों मृतक आपस में दूर के रिश्तेदार बताए जा रहे हैं

यह है पूरा मामला
पुलिस ने बताया कि इस घटना की जानकारी सबसे पहले रेलवे को मिली थी. ट्रेन चलाने वाले लोको पायलटों ने इस बात की जानकारी रेलवे को दी की रेलवे ट्रैक पर दो लाशें पड़ी हुई है. जिसके बाद स्थानीय जीआरपी पुलिस ने घटना की जानकारी सानौधा पुलिस थाने में दी. जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस की टीम ने मौके का मुआयना कर दोनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया.

ये भी पढ़ेंः कलेक्टर से बोला-80 साल का बुजुर्ग किसान, ''साहब मैं अभी जिंदा हूं, जमीन वापस दिला दीजिए''

सुसाइड नोट से हुआ मामले का खुलासा
बताया जा रहा है कि मृतक प्रेमी-प्रेमिका मुहली गांव के स्कूल में एक साथ पढ़ते थे. लड़का 11वीं क्लास में जबकि लड़की 10वीं क्लास में पढ़ती थी. पुलिस को मौके से जो सुसाइड नोट भी मिला उसमें लिखा था कि दोनों एक दूसरे से बहुत प्यार करते हैं. गलगल टोरिया के मेले में 22-1-2021 को हम दोनों अपने मर्जी से मर रहे हैं. लेकिन इस आत्महत्या के लिए सुसाइड नोट में उन्होंने परिवार वालों की इस पूरे मामले में कोई गलती नहीं होने की बात लिखी है. सुसाइड नोट के अलावा अन्य कागज भी पुलिस को ट्रैक पर पत्थर से दबे हुए मिले हैं. हालांकि इन कागजों में कुछ भी लिखा हुआ नहीं था.

मेले में घूमें, मंदिर पर चढ़ाया प्रसाद
पुलिस ने बताया का मामले की जांच पड़ताल के दौरान पता चला कि दोनों नाबालिग हर दिन की तरह स्कूल गए हुए थे. लेकिन वे शाम तक वापस ही नहीं लौटे. स्कूल से जानकारी मिली कि वे अपना स्कूल बैंग छोड़कर वहां से पास के गांव में लगे मेले में घूमने पहुंचे. इस दौरान दोनों ने एक मंदिर में प्रसाद भी चढ़ाया. जिसकी जानकारी खुद मंदिर के पुजारी ने दी. हालांकि कुछ देर मेले में घूमने के बाद दोनों नाबालिगों ने गांव से तीन किलोमीटर दूर रेलवे ट्रैक पर जाकर जान दे दी.

ये भी पढ़ेंः बच्चे खुद का नाम नहीं लिख पाते थे, आज वे अंगुलियों पर करते हैं कैलकुलेशन, देखिए अनोखी पाठशाला

पुलिस कर रही पूरे मामले की जांच
पुलिस ने बताया कि मामले की जांच शुरू कर दी गयी है. हालांकि दोनों ने  सुसाइड नोट में अपनी मर्जी से आत्महत्या की बात लिखी है. ऐसे में पुलिस हर तरह से मामले की जांच कर रही है. जबकि मृतकों के परिजनों से भी मामले में पूछताछ की जाएगी. पुलिस ने बताया कि मौके से सुसाइड नोट व मंदिर में चढ़ाया हुआ प्रसाद मिला जिसके आधार पर अब तक हुई जांच से मामले में कुछ कहा नहीं जा सकता है.

ये भी पढ़ेंः MP में शराबबंदी के लिए CM शिवराज से बात करेंगी उमा भारती, बोलीं- वह साहसी हैं, कर सकते हैं

WATCH LIVE TV