कोरोना संकट के बीच भोपाल में एक अलग 'वॉर', राजधानी में लगे प्रज्ञा ठाकुर लापता के पोस्टर

पोस्टर पर लिखा है- 'गुमशुदा की तलाश, भोपाल की जनता परेशान, सांसद प्रज्ञा ठाकुर कन्हा लापता?

कोरोना संकट के बीच भोपाल में एक अलग 'वॉर', राजधानी में लगे प्रज्ञा ठाकुर लापता के पोस्टर

भोपाल: एक तरफ देश कोरोना (Coronavirus) संकट से जूझ रहा है वहीं दूसरी तरफ राजनीतिक पार्टियां इस मुद्दे पर राजनीति करने से बाज नहीं आ रही हैं. लॉकडाउन (Lockdown) में प्रवासी मजदूर (Migrant Workers) परेशान हैं लेकिन नेताओं का आरोप-प्रत्यारोप खत्म होने का नाम नहीं ले रहा. इस बीच मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) की राजधानी भोपाल (Bhopal) में पोस्टर वॉर शुरू हो गया है. 

भोपाल में कई स्थानों पर सांसद प्रज्ञा ठाकुर के पोस्टर लगाए गए हैं. पोस्टरों में प्रज्ञा ठाकुर को गुमशुदा बताया गया है. अज्ञात लोगों ने शहर के कई हिस्सों में प्रज्ञा ठाकुर की गुमशुदगी के पोस्टर चस्पा किए हैं. 

ये भी पढ़ें- रेलवे टिकट रिजर्वेशन नियमों में हुआ बदलाव, 31 मई से पूरे देश में होगा लागू

पोस्टर में  कोरोना महामारी के दौरन सांसद प्रज्ञा ठाकुर को लापता बताया गया है. पोस्टर पर लिखा है- 'गुमशुदा की तलाश, भोपाल की जनता परेशान, सांसद प्रज्ञा ठाकुर कन्हा लापता?

ये भी देखें,....

इस बीच आपको बता दें कि मध्य प्रदेश में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी हो रही है. गुरुवार को स्वास्थ्य विभाग की तरफ से जारी आंकड़ों के मुताबिक राज्य में कोरोना के कुल 192 नए केस आए हैं, जिससे राज्य में संक्रमित मरीजों की संख्या 7493 हो गई है. वहीं राज्य में कोरोना का संक्रमण अब 51 जिलों में पहुंच चुका है.

स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक राज्य में कोविड-19 से आज 8 लोगों की मौत हुई है, जिससे राज्य में कोरोना से मरने वालों की संख्या 321 हो गई है. राज्य में आज कोरोना से कुल 123 लोग ठीक हुए हैं, जिससे राज्य में एक्टिव मरीजों की संख्या घटकर 3082 हो गई है.

आंकड़ों के मुताबिक इंदौर में कोरोना के सबसे ज्यादा 3260 मरीज है, जबकि 123 लोगों की अब तक मौत हो चुकी है. वहीं राजधानी भोपाल की बात करें तो यहां पर अब तक कोरोना के 1373 केस आ चुके हैं, जबकि 51 लोगों मौत हो चुकी है. इसके अलावा उज्जैन में 639, बुरहानपुर में 293 और खंडवा में 235 कोरोना के केस हैं. साथ ही उज्जैन में 54, बुरहानपुर में 14 और खंडवा में 13 लोगों की मौत भी हो चुकी है.