फोन कर बोला आधे घंटे में दे दूंगा जान, जब पुलिस पहुंची तो पता है क्या कहा?
X

फोन कर बोला आधे घंटे में दे दूंगा जान, जब पुलिस पहुंची तो पता है क्या कहा?

मुंबई पुलिस को फोन करके एक शख्स ने कहा कि वो आधे घंटे के अंदर अपनी जान दे देगा, क्योंकि मंगेतर के साथ उसका विवाद हो गया है. पुलिस जैसे-तैसे 30 मिनट से पहले ही उसके घर पहुंच गई. तब शख्स ने कहा कि अब उसका जान देने का कोई इरादा नहीं है, लिहाजा पुलिस उसकी चिंता न करे.

फोन कर बोला आधे घंटे में दे दूंगा जान, जब पुलिस पहुंची तो पता है क्या कहा?

मुंबई: महाराष्ट्र पुलिस (Maharashtra Police) उस वक्त सकते में आ गई जब एक व्यक्ति ने फोन करके कहा कि वो अपनी जान देने वाला है. दरअसल, मुंबई पुलिस को आए फोन में शख्स ने बताया कि उसका अपनी मंगेतर से झगड़ा हो गया है और वो आधे घंटे में खुदकुशी (Suicide) करने वाला है. इसके बाद पुलिस की एक टीम आनन-फानन में शख्स के पास आधे घंटे से पहले पहुंच गई. पुलिसकर्मियों ने जब शख्स से बात की तो उसने कहा अब मेरा मूड बदल गया है और मैं अपनी जान नहीं दूंगा.

‘मंगेतर के साथ कुछ ठीक नहीं’

यह मामला मुंबई के कांदिवली इलाके का है. यहां के रहने वाले दिनेश गुप्ता ने गुरुवार को पुलिस को फोन कर कहा कि अपनी मंगेतर के साथ हुए विवाद के कारण वह आत्महत्या करने वाला है. एक अधिकारी ने बताया कि दिनेश ने सुबह करीब 11 बजे पुलिस नियंत्रण कक्ष को फोन कर कहा कि वह आधे घंटे के भीतर अपनी जान दे देगा. क्योंकि मंगेतर और उसके बीच कुछ भी ठीक नहीं चल रहा है.

ये भी पढ़ें -रामपुर: दो लाख रुपयों से भरा बैग छीनकर भागे बंदर, पेड़ से बरसाए 500-500 के नोट

15 पुलिसकर्मियों की टीम पहुंची घर

इसके बाद उच्च अधिकारी सक्रिय हो गए और लगभग 15 पुलिसकर्मियों की एक टीम तैयार की गई. कुछ ही देर में पुलिस टीम ने दिनेश गुप्ता का ठिकाना खोज निकाला और आधे घंटे से पहले ही उसके घर पहुंच गई. जब टीम से दिनेश से पूछताछ शुरू की तो उसने कहा कि अब उसका मूड बदल लिया है और वह अपनी जान नहीं देगा.

Time पर पहुंचना थी प्राथमिकता

कांदिवली पुलिस स्टेशन के निरीक्षक विजय कंदारगांवकर ने बताया कि उसने फोन आने पर हमारी पहली प्राथमिकता थी समय पर शख्स के घर पहुंचना, ताकि उसे कोई गलत कदम उठाने से रोका जा सके. कुछ ही मिनटों में हमारी टीम वहां पहुंच गई थी. दिनेश ने बाद में पुलिस अधिकारियों से कहा कि उसने अपनी मंगेतर के साथ अपना विवाद सुलझा लिया है और अब वह ऐसा नहीं करने जा रहा. 

Police के फूल गए थे हाथ-पांव 

कंदारगांवकर ने बताया कि दो थानों के करीब एक दर्जन से अधिक अधिकारियों ने दिनेश गुप्ता के घर पहुंचकर उनसे बात की. दिनेश ने बताया कि अब वह अपने कार्यस्थल के लिए जा रहे हैं और उन्हें उनकी चिंता करने की जरूरत नहीं है. हालांकि, कुछ देर के लिए पुलिस के भी हाथ-पांव फूल गए थे. यदि पुलिस टीम को पहुंचने में देर हो जाती और दिनेश कोई गलत कदम उठा लेता तो पुलिस को आलोचना का सामना करना पड़ता. 

 

Trending news