close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

'पहले कहा जाता था कि स्‍वास्‍थ्‍य से सभी कार्य सिद्ध होते हैं, अब सुनते हैं कि...': PM मोदी

लोगों में बेहतर स्‍वास्‍थ्‍य के प्रति अलख जगाने के लिए पीएम मोदी ने राष्‍ट्रीय खेल दिवस के मौके पर 'फिट इंडिया' मूवमेंट का शुभारंभ किया.

'पहले कहा जाता था कि स्‍वास्‍थ्‍य से सभी कार्य सिद्ध होते हैं, अब सुनते हैं कि...': PM मोदी

नई दिल्‍ली: लोगों में बेहतर स्‍वास्‍थ्‍य के प्रति अलख जगाने के लिए पीएम मोदी ने राष्‍ट्रीय खेल दिवस के मौके पर 'फिट इंडिया' मूवमेंट (#FitIndiaMovement) का शुभारंभ किया. इस अवसर पर इंदिरा गांधी स्‍टेडियम में लोगों को संबोधित करते हुए उन्‍होंने कहा कि आज के ही दिन हमें मेजर ध्यानचंद के रूप में एक मजान स्पोर्टपर्सन मिले थे. उन्‍होंने अपनी फिटनेस और हॉकी स्टिक से दुनिया को मंत्रमुग्ध कर दिया था. उनके जन्‍मदिन के अवसर पर उन्हें नमन करता हूं.

पीएम मोदी ने कहा कि खेलों का सीधा नाता फिटनेस से है. स्‍वस्‍थ जीवन के लिए ये एक शब्द नहीं बल्कि एक जरूरी शर्त है. हमारी संस्‍कृति के सांचे में ही फिटनेस पर जोर दिया गया है. किसी भी बीमारी के बाद परहेज से ज्यादा उपाय को श्रेष्ठ माना गया है. फिटनेस हमारी जीवन पद्धति का सहज हिस्‍सा रही है.

कामयाबी की सीढ़ियां तब चढ़ पाएंगे, जब फिट रहेंगे, बॉडी फिट है, तो माइंड हिट हैः पीएम मोदी

उन्‍होंने कहा कि बार-बार हमारे पूर्वजों ने कहा है कि व्‍यायाम से ही अच्‍छे स्‍वास्‍थ्‍य, लंबी आयु, शक्ति और सुख की प्राप्ति होती है. निरोगी होना परमानंद है और अच्‍छे स्‍वास्‍थ्‍य से ही सभी कार्य सिद्ध होते हैं. हालांकि समय के साथ सभी परिभाषाएं बदल गई हैं. अब सुनने को मिलता है कि स्वार्थ से ही सभी कार्य सिद्ध होते हैं, स्‍वास्‍थ्‍य से नहीं. इसलिए अब स्‍वास्‍थ्‍य संबंधी उस पुरानी कहावत को फिर से चरितार्थ करने के प्रयास का वक्‍त आ गया है.

LIVE TV

पीएम मोदी ने कहा कि जीवन के उद्देश्य को हासिल करने के लिए एक लगन का होना भी उतना ही जरूरी है, क्‍योंकि जब हम ऐसे आगे बढ़ते हैं तो सफलता हमारे कदम चूमने को मजबूर हो जाती है. सफलता और फिटनेस का रिश्ता एक दूसरे से जुड़ा हुआ है. आप किसी भी फील्‍ड में अपने आइकॉन को देखें, सब फिट हैं. उनकी जीवनशैली पढ़ेंगे तो पाएंगे उनका फिटनेस पर फोकस और खुद पर भरोसा.

पीएम मोदी ने कहा कि फिटनेस के लिए सबको अपने यहां विशेष अभियान शुरू करना चाहिए क्‍योंकि सभी का फिट होना जरूरी है. इसके साथ ही कहा कि जो लक्ष्य हम रखते हैं हमारा जीवन वैसे ही ढल जाता है. धीरे-धीरे जीवन दिनचर्या वैसी बननी शुरू हो जाती है. ऐसे में परिवार के अंदर, व्यायाम, फिटनेस, रोजमर्रा के विषय बनने चाहिए. समय के साथ ये बदलाव सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि दुनिया में इस तरह के अभियानों की जरूरत महसूस की जा रही है. जैसे कि चीन 2030 को लक्ष्‍य बनाकर हेल्‍दी चीन 2030 के लिए काम कर रहा है.
ऑस्ट्रेलिया ने भी अपने नागरिकों की सक्रियता बढ़ाने के लिए लक्ष्‍य निर्धारित किया है.