close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ह्यूस्टन: एनर्जी सेक्टर के CEOs से मिले पीएम मोदी, 50 लाख टन गैस सप्लाई का समझौता

अमेरिका की टेलयूरियन और भारतीय कंपनी पेट्रोनेट के बीच LNG के लिए समझौता हुआ.

ह्यूस्टन: एनर्जी सेक्टर के CEOs से मिले पीएम मोदी, 50 लाख टन गैस सप्लाई का समझौता
भारत और अमेरिका खासतौर से शेल और एलएनजी को लेकर सहयोग बढ़ाना चाहते हैं.

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने अमेरिका के ह्यूस्टन (Houston) में रविवार को एनर्जी सेक्टर की 16 बड़ी कंपनियों के प्रमुखों (CEOs) से मुलाकात की. इस दौरान अमेरिका की टेलयूरियन और भारतीय कंपनी पेट्रोनेट के बीच समझौता हुआ. इसके तहत टेलयूरियन ने भारत में 50 लाख टन तरलीकृत प्राकृतिक गैस (LNG) सप्लाई करने के एमओयू पर हस्ताक्षर किए हैं. दोनों कंपनियां 31 मार्च 2020 तक लेनदेन समझौतों को अंतिम रूप देने का लक्ष्य रखेंगी.

पीएम मोदी के साथ गोलमेज बैठक में बेकर ह्यूजेस, बीपी, एमर्सन इलेक्ट्रिक कंपनी, आईएचएस मार्किट व अन्य कंपनियों के प्रमुख शामिल हुए. माना जा रहा है कि सऊदी अरामको के तेल संयंत्र पर हुए हालिया हमले के बाद भारत अपने आपूर्तिकर्ताओं का दायरा बढ़ाना चाहता है.

दरअसल, खाड़ी और मध्य पूर्व के देशों में राजनीतिक अनिश्चितता के कारण भारत अपनी तेल जरूरतों के लिए अमेरिका की तरफ देख रहा है. ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अमेरिका दौरे के दौरान पेट्रोलियम व प्राकृतिक गैस की सार्वजनिक कंपनियों ने कुछ सौदे कर किए. भारत और अमेरिका खासतौर से शेल और तरलीकृत प्राकृतिक गैस (एलएनजी) को लेकर सहयोग बढ़ाना चाहते हैं.

यह भी पढ़ें- अमेरिका पहुंचने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ट्वीट- Howdy ह्यूस्टन!
भारत ने नवंबर 2018 से लेकर मई 2019 के दौरान अमेरिका से रोजाना 1,84,000 बैरल तेल खरीदा है, जबकि पिछले साल इसी अवधि के दौरान भारत ने अमेरिका से 40,000 बैरल रोजाना तेल की खरीदारी की थी.

प्रधानमंत्री 21 से लेकर 27 सितंबर तक अमेरिका में हैं, जहां वह संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित करेंगे और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ उनकी द्विपक्षीय वार्ता होगी.