Pakistan Twitter Account Ban: भारत की पाकिस्तान पर सबसे बड़ी डिजिटल स्ट्राइक, यूं बंद हो गई PAK की बोलती
topStorieshindi

Pakistan Twitter Account Ban: भारत की पाकिस्तान पर सबसे बड़ी डिजिटल स्ट्राइक, यूं बंद हो गई PAK की बोलती

Pakistan News: पाकिस्तान से जुड़ी इस वक्त की सबसे बड़ी खबर ये ही कि भारत में पाकिस्तान सरकार के अधिकृत एक सोशल मीडिया अकाउंट को बंद कर दिया गया है. हालांकि भारत सरकार की तरफ से पाकिस्तान के ट्विटर हैंडल को बैन (Pakistan Government Twitter handel ban) करने को लेकर कोई बयान जारी नहीं किया गया है.

Pakistan Twitter Account Ban: भारत की पाकिस्तान पर सबसे बड़ी डिजिटल स्ट्राइक, यूं बंद हो गई PAK की बोलती

Pakistan Government News: पाकिस्तान सरकार का ट्विटर अकाउंट भारत में बंद कर दिया गया है. भारत के ट्विटर यूजर्स के लिए ये ट्विटर अकाउंट ब्लॉक है. ट्विटर की तरफ से बताया गया है कि एक लीगल शिकायत मिलने के बाद उसने ऐसा कदम उठाया है. माना जा रहा है कि भारत में देश विरोधी गतिविधियों पर रोक लगाने की दिशा में केंद्र सरकार ने यह कदम उठाया है.

सरकार ने नहीं जारी किया बयान

हालांकि भारत सरकार की तरफ से अभी तक पाकिस्तान के ट्विटर हैंडल (@GovtofPakistan's account) को बैन करने को लेकर कोई बयान जारी नहीं किया गया है. इस बीच पाकिस्तान पर हुई अबतक की सबसे बड़ी डिजिटल स्ट्राइक को लेकर कई तरह के कयास लग रहे हैं. माना जा रहा है कि हाल में एक कट्टर इस्लामिक संगठन पर की गई कार्रवाई के बाद केंद्र की सरकार ने यह कदम उठाया है. पाकिस्तान की सरकार का अधिकारिक ट्विटर हैंडर क्यों बैन किया गया, इस पर आधिकारिक बयान का इंतजार है.

पाकिस्तान भारत के खिलाफ फैलाता है प्रोपेगेंडा

गौरतलब है कि पाकिस्तान लंबे समय से सोशल मीडिया मंचों के जरिए भारत विरोधी प्रोपेगेंडा फैलाने से बाज नहीं आ रहा है. ऐसे में समय समय पर भारत के खिलाफ नफरत भरे और बेबुनियाद आरोप लगाने वालों पर सरकार की ओर से कार्रवाई की जाती है. पाकिस्तान में इस्लामाबाद की गलियों से लेकर अमेरिका तक में बैठे कुछ इस्लामिक कट्टरपंथी पीएम नरेंद्र मोदी और भारत के खिलाफ कुछ भी करने को उतारू हैं. ऐसे कुछ लोग भारत की छवि खराब करने के लिए फंडिंग का सहारा भी ले रहे हैं.

भारत का नाम बदनाम करने की साजिश

भारत विरोधी मुहिम में लगे कुछ लोग और संगठन पत्रकारों को घूस देकर भारत में अल्पसंख्यकों और दलितों पर कथित अत्याचार वाली स्टोरी सशर्त लिखने पर 1 लाख 22 हजार रुपये देने का विज्ञापन तक दे चुके हैं. इस विज्ञापन की एक शर्त ये थी कि भारत में अल्पसंख्यकों पर हो रहे अत्याचार पर स्टोरी फाइल करने वाले पत्रकार को पहले उसका कंटेट और थीम एक प्रपोजल बनाकर पहले एक संस्था को भेजना होगा. वहां से अगर प्रपोजल पास हुआ तो एक स्टोरी फाइल करने के लिए उसे अच्छी खासी रकम दी जाएगी.

ये स्टोरी आपने पढ़ी देश की सर्वश्रेष्ठ हिंदी वेबसाइट Zeenews.com/Hindi पर

Trending news