खुलासा : J&K में सुरक्षाबलों के राशन में जहर मिलाने की फिराक में पाक की खुफिया एजेंसी ISI : सूत्र

पाक आर्मी और ISI एक बार फिर जम्मू कश्मीर में भारतीय सुरक्षाबलों को नुकसान पहुंचाने के लिए साजिश रच रहे हैं. 

खुलासा : J&K में सुरक्षाबलों के राशन में जहर मिलाने की फिराक में पाक की खुफिया एजेंसी ISI : सूत्र

श्रीनगरः जम्मू कश्मीर में तैनात भारतीय सुरक्षाबलों को लगातार आतंकियों द्वारा निशाने की कोशिश की जा रही है. 14 फरवरी को पुलवामा में आतंकियों द्वारा सीआरपीएफ की बस पर किए गए हमले के बाद आतंकी संगठनों की मदद के लिए पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई की खतरनाक साजिश सामने आई है. पाक आर्मी और ISI एक बार फिर जम्मू कश्मीर में भारतीय सुरक्षाबलों को नुकसान पहुंचाने की साजिश रच रहे हैं. 

इसके साथ ही उसके स्लीपर सेल भी इसके लिए एक्टिव हो सकते हैं. ऐसी स्थिति को भांपते हुए सुरक्षबलों को अलर्ट कर दिया गया है. किसी भी तरह की कमी नहीं बरतने के सख्त निर्देश दिए गए हैं.जम्मू-कश्मीर सरकार के आपराधिक जांच विभाग द्वारा जारी किए गए एक खुफिया नोट के बाद घाटी में सुरक्षा एजेंसियों को सतर्क किया है कि पाकिस्तान मिलिट्री इंटेलिजेंस और इंटर-सर्विसेज इंटेलिजेंस एजेंट कश्मीर में तैनात सुरक्षा बलों के राशन में जहर मिलाने की योजना बना रहे हैं. हमारी सहयोगी साइट WION को मिले दस्तावेजों में लिखा है, 'पाकिस्तान एमआई (सैन्य खुफिया) और कश्मीर में गश्त लगाए बैठे आईएसआई एजेंटों के बीच हुई बातचीत से पता चला है कि वह भारतीय सीमा पर तैनात जवानों के राशन में जहर मिलाने की योजना बना रहे हैं.'

अलर्ट पर जम्मू कश्मीर पुलिस और अधिकारी
यह नोट जम्मू कश्मीर के पुलवामा हमले के कुछ दिन बाद आया है, जिससे अधिकारियों में हड़कंप मचा हुआ है. नोट मिलने के बाद से ही अधिकारियों ने अब सभी शिविरों के राशन डिपो की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए कहा है. इसके अलावा भारतीय सेना के लिए देशभर में बनाए गए राशन के स्टॉक की सुरक्षा की दोबारा से जांच करने के लिए कहा गया है, ताकि किसी तरह की अनहोनी न हो. 

पुलवामा में हुआ था आतंकी हमला
उल्लेखनीय है कि जम्मू कश्मीर के पुलवामा सीआरपीएफ को आतंकियों ने निशाना बनाया था. इसमें भारतीय सेना के 40 जवान शहीद हो गए थे. भारतीय सेना के काफिले पर हुए इस हमले की जिम्मेदारी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली थी.