यहां एक साल के लिए किराए पर मिलती है पत्नी, जानें इस 'प्रथा' के बारे में

मंडी में कुंवारी लड़कियां भी होती हैं और किसी की पत्नी भी. करार की अवधि समाप्त होने के बाद महिला की फिर दूसरे पुरुष से शादी हो जाती है.

ज़ी न्यूज़ डेस्क | Feb 17, 2020, 08:14 AM IST

नई दिल्ली: भारत की संस्कृति की दुनियाभर में अपनी अलग ही पहचान रखती है. हालांकि यहां कुछ कुप्रथाएं भी हैं जो प्रचीन काल से चली आ रही हैं और आज भी उसी तरह जारी हैं. आज के समय में जब देश में महिला सशक्तिकरण की बातें होती हैं और महिलाओं की सुरक्षा के लिए नए-नए कानून बनाए जाते हैं. ऐसे में देश की आधी आबादी के खिलाफ एक ऐसी प्रथा है जो हमें सोचने पर मजबूर करती है. आज हम आपको उन्हीं प्रथाओं या फिर यूं कहें कि कुप्रथाओं में से एक के बारे में बताने जा रहे हैं...

 

 

1/6

चौंकाने वाली सच्चाई

Wife on rent

किराए पर पत्नी. यह वाक्य काफी हैरान करने वाला है. लेकिन ये सच है. जी हां, मध्य प्रदेश के शिवपुरी में दशकों पहले शुरू हुई ये कुप्रथा आज भी चली आ रही है. यहां लोग पैसे देकर दूसरों की बीवी, बहू या फिर बेटी को किराए पर एक साल या फिर इससे कम समय के लिए ले जा सकते हैं. 

2/6

ये है धड़ीच प्रथा

Shivpuri madhya pradesh

मध्य प्रदेश के शिवपुरी जिले में यह कुप्रथा धड़ीचा प्रथा के नाम से जानी जाती है. लड़कियों और महिलाओं को किराए पर देने के लिए यहां हर साल मंडी सजती है. दूर-दूर से खरीदार अपने लिए पत्नी किराए पर लेने आते हैं. सौदा तय होने के बाद खरीदार पुरुष और बिकने वाली महिला के बीच 10 रुपए से लेकर 100 रुपए के स्टांप पेपर पर करार किया जाता है.

3/6

कीमत अदा कर ले जाते हैं पत्नी

Wife on rent 3

जिसे जितने समय के लिए लड़की चाहिए वह रकम अदा कर ले जाता है और उतने समय लड़की को अपने पास रखता है. बाद में उसे वापस छोड़ जाता है. 

 

4/6

ये है कीमत

People pay for Wife on rent

जानकारी के मुताबिक मंडी में लड़कियों की कीमत 15 हजार रुपए से शुरू होकर 4 लाख रुपए तक हो सकती है. खरीदार लड़कियों की चाल-ढाल और खूबसूरती देखकर उनकी कीमत लगाते हैं. मंडी में कुंवारी लड़कियां भी होती हैं और किसी की पत्नी भी. करार की अवधि समाप्त होने के बाद महिला की फिर दूसरे पुरुष से शादी हो जाती है. पहले वाला पुरुष ही महिला को रखना चाहता है तो उसे फिर से मोटी रकम अदा करनी होती है.

 

5/6

महिला तोड़ सकती है करार

Wife on rent in Madhya Pradesh

महिला चाहे तो करार को बीच में भी तोड़ सकती है. अगर महिला ऐसा करती है तो उसे स्टांप पेपर पर शपथपत्र देना होता है. इसके बाद उसे तय राशि पति को लौटानी पड़ती है. ऐसा देखा गया है कि दूसरे पुरुष से ज्यादा रकम मिलने पर भी महिला करार तोड़ देती है. 

 

6/6

ये हो सकते हैं कारण

This could be the reason behind wife on rent

जानकारी के मुताबिक, मध्य प्रदेश ही नहीं बल्कि गुजरात के भी कुछ इलाकों में ऐसे मामले सामने आए हैं. हालांकि कुछ इलाके में यह एक व्यापार बन गया है. कई मामले ऐसे भी सामने आते हैं जिनमें महिलाओं को मात्र 500 रुपए में दूसरे आदमी को बेच दिया जाता है. इसका सबसे बड़ा कारण गरीबी और लिंगानुपात में कमी है.