BREAKING NEWS

Puri: देश का पहला शहर जहां 24 घंटे आएगा पीने का साफ पानी, RO की नहीं जरूरत

नई दिल्ली: पीने का साफ आज हर भारतीय के लिए संकट बना हुआ है. राजधानी दिल्ली से लेकर तमाम बड़े शहरों में आलम ये है कि हर घर में RO वॉटर प्यूरिफायर (RO Water Purifiers) लगवाना जरूरी हो गया है, क्योंकि बिना RO के पानी पीने लायक होता ही नहीं. RO से  पीने के लिए साफ पानी तो मिल जाता है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि RO में फिल्टर होने के समय पानी से कुछ ऐसे मिनरल्स भी निकल जाते हैं जिनकी आपके शरीर को सख्त जरूरत होती है. ऐसे में आज हम आपको देश के पहले ऐसे शहर के बारे में बताने जा रहे हैं जहां RO की जरूरत ही नहीं पड़ेगी. यहां नलों में 24 घंटे साफ पीने का पानी आएगा. 

ज़ी न्यूज़ डेस्क | Jul 28, 2021, 16:04 PM IST
1/6

RO मुक्त हुआ ये शहर!

Odisha Puri become RO free

देश में ओडिशा का पुरी पहला और एकमात्र ऐसा शहर बन गया है जहां 24 घंटे लोगों को नल के जरिए पीने का स्वच्छ पानी उपलब्ध होगा. नल का पानी इतना साफ होगा कि इसे फिल्टर करने की जरूरत ही नहीं होगी. ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने हालही में पुरी में ‘नल से पेयजल’ मिशन का उद्घाटन किया है.

2/6

करोड़ों लोगों को मिलेगा लाभ

Crores of people will get drinking water from tap

पुरी जगन्नाथ यात्रा के लिए प्रसिद्ध है. इस शहर की आबादी ढ़ाई लाख है. ऐसे में इस योजना का लाभ शहर के लोगों को तो मिलेगा ही साथ ही हर साल इस पवित्र स्थान की यात्रा पर आने वाले करीब दो करोड़ पर्यटकों को भी मिलेगा.

3/6

लोगों तक पहुंचेगा पीने का साफ पानी

Puri to get 24 hours drinking water in tap

मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने इस मिशन का उद्घाटन करते हुए कहा कि हर घर को नल से गुणवत्तापूर्ण पेयजल उपलब्ध कराना एक परिवर्तनकारी परियोजना है और पुरी को विश्व स्तरीय धरोहर शहर बनाने की दिशा में एक अहम कदम है. 

4/6

सपना बना हकीकत

Indias first city to get clean drinking water

सीएम ने आगे कहा कि अब पुरी के निवासियों, पर्यटकों और तीर्थयात्रियों के लिए शहर भर में स्वच्छ पेयजल उपलब्ध है. ओडिशा के हर घर में नल से पानी पहुंचाना मेरा सपना रहा है और यह अब हकीकत में बदल रहा है.

5/6

पेयजल योजना का बजट बढ़या गया

budget for drinking water scheme increased

सीएम ने कहा कि पेयजल का बजट पांच साल में दोगुना किया गया है. पहले यह 200 करोड़ रुपये था, जो अब पांच साल में बढ़कर 4000 करोड़ रुपये हो गया है.

6/6

अन्य राज्य भी लें सीख

Other states should also provide clean drinking water to its citizens

आपको बता दें कि भारत में कुछ स्थानों पर तो कई दिनों तक पीने का पानी उपलब्ध ही नहीं होता है. बड़े शहरों में नल में पानी आता तो है लेकिन ये इतना गंदा होता है कि RO के बिना काम चलाना मुश्किल होता है. ऐसे में RO में फिल्टर होने के बाद पानी से जरूरी मिनरल्स निकल जाते हैं साथ ही पानी की बर्बादी भी काफी होती है. ऐसे में हर राज्य को ओडिशा से सीख लेने की जरूरत है.