PM ने उत्तराखंड को दी 18 हजार करोड़ की सौगात, 'विकास के लिए डबल इंजन की सरकार जरूरी'
X

PM ने उत्तराखंड को दी 18 हजार करोड़ की सौगात, 'विकास के लिए डबल इंजन की सरकार जरूरी'

PM Narendra Modi Uttarakhand Visit: पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस ने 10 साल तक केंद्र सरकार में रहकर देश का कीमती समय गंवा दिया. बीजेपी के आने के बाद उत्तराखंड का तेजी से विकास हुआ है.

PM ने उत्तराखंड को दी 18 हजार करोड़ की सौगात, 'विकास के लिए डबल इंजन की सरकार जरूरी'

देहरादून: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) आज (शनिवार को) उत्तराखंड (Uttarakhand) के दौरे पर हैं. पीएम मोदी (PM Modi) ने उत्तराखंड में 18 हजार करोड़ रुपये की परियोजनाओं की शुरुआत की. पीएम मोदी ने इस मौके पर एक जनसभा को भी संबोधित किया. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि बीते करीब साढ़े चार साल के कार्यकाल में उत्तराखंड के विकास के लिए 1 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा की परियोजनाओं को स्वीकृति दी गई. आज भी 18 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा के प्रोजेक्ट्स का लोकार्पण और शिलान्यास किया गया है. इन परियोजनाओं में दिल्ली-देहरादून आर्थिक गलियारा भी शामिल है.

पीएम ने उत्तराखंड को दिया तोहफा

पीएम मोदी ने कहा कि इस क्षेत्र का विकास हमारी सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है. ये परियोजनाएं इस दशक को उत्तराखंड का दशक बनाएंगी. उत्तराखंड का विकास तेजी से होगा. आज 18 से ज्यादा परियोजनाओं का शिलान्यास या लोकार्पण हुआ.

ये भी पढ़ें- UP विधान सभा चुनाव में BJP जीतेगी कितनी सीटें? प्रदेश अध्यक्ष ने किया बड़ा दावा

डबल इंजन की सरकार से तेजी से हुआ विकास- पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि जो लोग पूछते हैं कि डबल इंजन की सरकार क्या फायदा है, वो आज देख सकते हैं कि तेजी से विकास हुआ है. पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने भारत में कनेक्टिविटी बढ़ाने का अभियान शुरू किया था लेकिन उनके बाद दस साल ऐसी सरकार रही जिसने देश का समय व्यर्थ कर दिया. इंफ्रास्ट्रक्चर के घोटाले और घपले हुए. इसके नुकसान की भरपाई के लिए हमने दोगुनी गति से मेहनत की.

पहाड़ हमारी सुरक्षा के किले- पीएम मोदी

पीएम मोदी ने कहा कि हमारे पहाड़, हमारी संस्कृति और आस्था के गढ़ तो हैं ही, ये हमारे देश की सुरक्षा के भी किले हैं. पहाड़ों में रहने वालों का जीवन सुगम बनाना देश की सर्वोच्च प्राथमिकताओं में से एक है. दुर्भाग्य से दशकों तक जो सरकार में रहे, उनकी नीति-रणनीति में दूर-दूर तक ये चिंतन कहीं था ही नहीं. केदारनाथ त्रासदी से पहले, 2012 में 5 लाख 70 हजार लोगों ने दर्शन किया था. ये उस समय एक रिकॉर्ड था. जबकि कोरोना काल शुरू होने से पहले, 2019 में 10 लाख से ज्यादा लोग केदारनाथ जी के दर्शन करने पहुंचे थे. यानी केदार धाम के पुनर्निर्माण ने ना सिर्फ श्रद्धालुओं की संख्या बढ़ाई बल्कि वहां के लोगों को रोजगार-स्वरोजगार के भी अनेकों अवसर उपलब्ध कराए हैं.

ये भी पढ़ें- राकेश टिकैत ने सरकार के सामने रखीं 3 मांगें, कहा- बिना इसके नहीं जाएंगे वापस

उन्होंने कहा कि साल 2007 से 2014 के बीच जो केंद्र की सरकार थी, उसने सात साल में उत्तराखंड में केवल 288 किलोमीटर नेशनल हाईवे बनाए. जबकि हमारी सरकार ने अपने सात साल में उत्तराखंड में 2 हजार किलोमीटर से अधिक लंबाई के नेशनल हाईवे का निर्माण किया है.

LIVE TV

Trending news