क्या एक बार फिर बढ़ेगा Lockdown? PM नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह की बैठक जारी

जानकारों का मानना है कि इस बैठक में लॉकडाउन को लेकर चर्चा हो सकती है. 

क्या एक बार फिर बढ़ेगा Lockdown? PM नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह की बैठक जारी
(फाइल फोटो)

नई दिल्ली: कोरोना वायरस (Coronavirus) संकट के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) और गृह मंत्री अमित शाह (HM Amit Shah) के बीच अहम बैठक चल रही है. 7 लोक कल्याण मार्ग में दोनों की बैठक जारी है. जानकारों का मानना है कि इस बैठक में लॉकडाउन (Lockdown) को लेकर चर्चा हो सकती है. आपको बता दें कि 31 मई को लॉकडाउन 4.0 खत्म हो रहा है.

आपको बता दें कि इससे पहले गुरुवार को लॉकडाउन फाइव को लेकर गृह मंत्री अमित शाह ने सभी मुख्यमंत्रियों से की बात की थी. गृह मंत्री ने मुख्यमंत्रियों से राज्यों की स्थिति और लॉकडाउन को लेकर उनकी राय जानी थी. लॉकडाउन के चौथे चरण की समाप्ति से सिर्फ तीन दिन पहले गृह मंत्री ने मुख्यमंत्रियों से टेलीफोन पर बातचीत की. ये पहला मौका था जब गृह मंत्री ने लॉकडाउन के एक और चरण के खत्म होने के पहले मुख्यमंत्रियों से बात कर उनके विचार जाने. 

ये भी पढे़ं- छत्तीसगढ़ में खत्म हुआ वीकेंड लॉकडाउन, अब हफ्ते में 6 दिन खुलेगा बाजार

कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन सबसे पहले 25 मार्च को लगाया था और इसके बाद इसे तीन बार बढ़ाया जा चुका है. गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया, "गृह मंत्री ने सभी मुख्यमंत्रियों से बातचीत की और लॉकडाउन को 31 मई के बाद बढ़ाए जाने पर उनके विचार जानें."

मुख्यमंत्रियों के साथ अपनी बातचीत के दौरान शाह ने राज्यों के चिंताजनक स्थिति वाले क्षेत्रों के बारे में उनके विचार जाने और एक जून के बाद किन क्षेत्रों को खोलना चाहते हैं, इस बारे में भी उनसे राय ली गई. दिलचस्प है कि अभी तक हर चरण में लॉकडाउन बढ़ाने के पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिये सभी मुख्यमंत्रियों के साथ बात कर उनके विचार जान रहे थे. प्रधानमंत्री के साथ मुख्यमंत्रियों की सभी कॉन्फ्रेंस के दौरान शाह भी मौजूद रहे थे. \

ये भी देखें.... 

एक अन्य अधिकारी ने बताया कि फिलहाल मुख्यमंत्रियों की राय का पता नहीं लग पाया है लेकिन यह समझा जा रहा है कि उनमें से अधिकतर कुछ रूप में लॉकडाउन जारी रखना चाहते हैं. साथ ही वे आर्थिक गतिविधियों को बढ़ावा देने और जन-जीवन को सामान्य बनाने के पक्ष में भी हैं. संभावना है कि अगले तीन दिन में केंद्र सरकार लॉकडाउन पर अपने फैसले की घोषणा कर देगी.