पीएम मोदी ने बीजेपी सांसदों से कहा - जम्मू-कश्मीर के ऐतिहासिक फैसले को जनता तक पहुंचाएं

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार को बीजेपी संसदीय दल की बैठक में भी शामिल हुए. पिछले दो बैठकों में पहले से तय कार्यक्रम के कारण, PM नहीं शामिल हुए थे.

पीएम मोदी ने बीजेपी सांसदों से कहा - जम्मू-कश्मीर के ऐतिहासिक फैसले को जनता तक पहुंचाएं
बैठक में पार्टी सांसदों को एक बुकलेट दिया गया जिसमें सरकार के 6 महीनों के कामकाज का लेखा-जोखा है.

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार को बीजेपी संसदीय दल की बैठक में भी शामिल हुए. पिछले दो बैठकों में पहले से तय कार्यक्रम के कारण, PM नहीं शामिल हुए थे, इसलिए शीतकालीन सत्र के आखिरी संसदीय दल की बैठक में PM के पहुंचते ही सभी सांसदों ने खड़े होकर ताली बजाते हुए उनका स्वागत किया. इस बैठक में पार्टी सांसदों को एक बुकलेट दिया गया जिसमें सरकार के 6 महीनों के कामकाज का लेखा-जोखा है. पुस्तक का टाइटल है "न्यू इंडिया ,एक शानदार शुरुआत". सब टाइटल है "बड़े वादे पूरे किए बड़ी उम्मीदों को छुआ." इसमें कुल 13 चैप्टर हैं लेकिन सबसे महत्वपूर्ण है, पहला चैप्टर जिसका टाइटल है- "70 सालों बाद 'एक देश एक संविधान' अब हकीकत".

इसमें कहा गया है: 
1. 5 अगस्त, 2019 को लोगो को अलग करने वाले एक भेदभावपूर्ण शासन को समाप्त कर दिया गया.
2. जम्मू और कश्मीर और लद्दाख पैरी तरह से अब भारत का एकीकृत हिस्सा बन गया.
3. संविधान के तहत भारत के अन्य क्षेत्रों के लोगों को मिलने वाले अधिकार, अब इस क्षेत्र में रहने वाले लोगों को भी मिलेंगे.

इस बुकलेट में प्रधानमंत्री मोदी के कुछ कोट्स भी छपे हैं, जिसमें वह कहते हैं: 
"मैं जम्मू कश्मीर और लद्दाख की अपनी बहनों और भाइयों के साहस को सलाम करता हूं. सालों से, कुछ लोगों ने अपने स्वार्थ के चलते कभी यहां के लोगों के सशक्तिकरण की प्रवाह नहीं कि . जम्मू और कश्मीर अब उनकी हथकड़ियों से स्वतंत्र है. अब एक नई सुबह बेहतर कल इंतजार कर रहा है"

ये भी देखें:

एक दूसरा कोटेशन भी छपा है, जिसमें पीएम मोदी ने कहा है:
"जम्मू कश्मीर और लद्दाख के लोगों को उनके अधिकारों से वंचित रखा गया था .धारा 370 के निरस्तीकरण के साथ ही सरदार बल्लभ भाई पटेल, बीआर अंबेडकर और श्यामा प्रसाद मुखर्जी के सपनों को पूरा किया गया . जम्मू और कश्मीर में अब एक नए युग की शुरुआत हुई है".

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सांसदों को जम्मू कश्मीर के इस बड़े फैसले को लोगों तक सही ढंग से पहुचाने का निर्देश भी दिया. इस बुकलेट में कहा गया है कि 6 महीने उपलब्धि के महीने रहे जिसमें पीएम किसान स्कीम में सभी किसानों को शामिल किया गया. छोटे व्यापारियों और किसानों को पेंशन और एकीकृत जल शक्ति मंत्रालय का गठन किया गया. बुकलेट में सरकार के उस लक्ष्य को भी दोहराया गया कि भारत की अर्थव्यवस्था 5 ट्रिलियन डॉलर होगी.