Rajasthan Congress में सियासी खींचतान जारी, जानिए Sachin Pilot किसका कर रहे हैं इंतजार

Political Tussle Continues In Rajasthan Congress: कांग्रेस नेता भंवरलाल शर्मा ने कहा है कि अशोक गहलोत राजस्थान के मुख्यमंत्री हैं. वो मेरे नेता हैं और सचिन पायलट को भी उन्हें अपना नेता मानना पड़ेगा.

Rajasthan Congress में सियासी खींचतान जारी, जानिए Sachin Pilot किसका कर रहे हैं इंतजार
राजस्थान कांग्रेस में सियासी खींचतान.

जयपुर: राजस्थान (Rajasthan) कांग्रेस (Congress) में सियासी खींचतान जारी है. विधायक अपनी आस्थाएं तय कर रहे हैं. पायलट कैंप के विधायक आलाकमान से मंत्रिमंडल विस्तार और राजनीतिक नियुक्तियों में जगह की मांग कर रहे हैं तो वहीं गहलोत समर्थक विधायक अपना जोर लगा रहे हैं. कह रहे हैं कि जिन्होंने पार्टी का साथ दिया हाईकमान उनकी सुने ना कि उन लोगों को जिन्होंने कांग्रेस सरकार को ही संकट में डाल दिया.

पायलट को पार्टी आलाकमान से मुलाकात का इंतजार

सूत्रों के मुताबिक, सचिन पायलट (Sachin Pilot) अभी आलाकमान से मिलने का इंतजार कर रहे हैं. पायलट प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) से मिलना चाहते हैं. सचिन पायलट को प्रियंका गांधी से मिलने का वक्त नहीं मिला है. प्रियंका गांधी अभी शिमला में छुट्टियां मना रही हैं.

सीएम गहलोत 2 महीने तक किसी से नहीं मिलेंगे

बता दें कि पिछले 5 दिनों से सचिन पायलट पार्टी आलाकमान से मिलने के इंतजार में बैठे हैं, लेकिन आज तक उन्हें मिलने का समय नहीं मिला है. उधर सीएम अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने कोरोना का बहाना देकर अगले 2 महीने तक किसी भी मीटिंग से दूर रहने का संदेश देकर साफ कर दिया है कि फिलहाल कुछ नहीं होगा.

ये भी पढ़ें- कोरोना की सबसे दर्दनाक तस्वीर, पति को मुंह से सांस तक दी; जानिए आज किस हाल में है महिला

सचिन पायलट सीएम गहलोत को मानेंगे नेता?

कांग्रेस नेता भंवरलाल शर्मा ने कहा है कि अशोक गहलोत राजस्थान के मुख्यमंत्री हैं. वो मेरे नेता हैं और सचिन पायलट को भी उन्हें अपना नेता मानना पड़ेगा. वहीं संदीप यादव ने तो पायलट कैंप के विधायकों को गद्दार तक कह दिया और कहा कि पार्टी से गद्दारी करने वालों की जगह हाईकमान को उन लोगों की बात सुननी चाहिए, जिन्होंने सरकार बचाई.

वहीं गहलोत गुट पर पायलट खेमे ने पलटवार किया है. पायलट खेमे की तरफ से कहा गया कि हमें गद्दार कहने वाले अपने अंदर झांकें. दल-बदलू नेता हमें ना समझाएं. पार्टी बदलने वालों को बोलने का हक नहीं है. कार्यकर्ताओं के मान-सम्मान के लिए संघर्ष जारी रहेगा. आलाकमान से बात करने में बुराई क्या है, हम कार्यकर्ताओं का हक चाहते हैं.

VIDEO-

ये भी पढ़ें- स्टूडेंट ने ऑनलाइन क्लास में महिला टीचर को दिखाया अपना प्राइवेट पार्ट, फिर हुआ ये

बीएसपी से कांग्रेस में आए विधायकों ने भी तेवर दिखाए हैं. पूर्व मंत्री और उदयपुरवाटी से विधायक राजेंद्र गुढ़ा ने कहा है कि सरकार में बदलाव होना ही चाहिए.

LIVE TV

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.