भीलवाड़ा: भीषण सड़क हादसे में 4 की मौत, 3 गंभीर घायल

भीलवाड़ा के मंगरोप थाना क्षेत्र के एनएच 79 पर देवासी होटल के सामने एक कंटेनर से टकराने के बाद मिनी ट्रक पलट गया.   

भीलवाड़ा: भीषण सड़क हादसे में 4 की मौत, 3 गंभीर घायल
फाइल फोटो

दिलशाद खान, भीलवाड़ा: जिले के मंगरोप थाना क्षेत्र के एनएच 79 पर देवासी होटल के सामने एक कंटेनर से टकराने के बाद मिनी ट्रक पलट गया. हादसे में चालक सहित 4 मजदूरों की मौत हो गई. वहीं चालक की तीन साल की मासूम बेटी और भाई सहित तीन लोग घायल हो गये. जिन्हें जिला अस्पताल में भर्ती करवाया गया है. 2 शवों की पहचान अभी नहीं हो पाई है, जिन्हें मोर्चरी में सुरक्षित रखवाया गया है..
  
मंगरोप थाना प्रभारी महावीर प्रसाद ने बताया कि उपनगर पुर क्षेत्र स्थित रोलेक्स प्रोसेस का एक ट्रक मजदूरों के साथ चित्तौड़गढ़ रोड स्थित अजय इंडिया नामक फैक्ट्री से प्रोसेस के लिए कपड़ा लाने गया था. यह मिनी ट्रक इस फैक्ट्री से निकल कर पुन: प्रोसेस हाउस जा रहा था. तभी मंडपिया में देवासी होटल के सामने आगे चल रहे कंटेनर को चालक ने अचानक ब्रेक लगा कर रोक दिया. इससे पीछे चल रहा मिनी ट्रक कंटेनर से भिड़ने के बाद पलट गया. 

हादसे के समय मिनी ट्रक में चालक, उसकी 3 साल की बेटी और भाई सहित सात लोग मौजूद थे. इस भीषण दुर्घटना में 3 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई. वहीं चालक, उसकी बेटी और दो अन्य लोगों को 108 एंबुलेंस से जिला अस्पताल ले जाया गया, जहां चालक ने उपचार के दौरान दम तोड़ दिया. चालक की बेटी सहित तीन घायलों का उपचार किया जा रहा है.  

घायल टांडा का खेड़ा निवासी विष्णु पुत्र धन्नालाल मीणा ने 4 मृतकों में से एक मृतक की पहचान अपने भाई टांडाखेड़ा, अरनोद निवासी हीरालाल पुत्र धन्नालाल मीणा के रूप में कर ली है. वहीं एक अन्य मृतक दीपक पुत्र जगदीश मीणा की भी पहचान कर ली गई है, जबकि दो की अभी पहचान नहीं हो पाई है. इनमें से एक के हाथ पर राकेश व दूसरे के हाथ पर करण गुदा है. पुलिस इनकी पहचान के प्रयास कर रही है. 

हादसे में विष्णु मीणा, श्यामलाल पुत्र मगना मीणा निवासी आठीनेरा अरनोद, नरेश पुत्र मांगीलाल गुर्जर मांडा, सोजत रोड व अंजली पुत्री हीरालाल मीणा घायल हो गए. विष्णु मीणा ने बताया कि उसका भाई हीरालाल मिनी ट्रक चालक था. हीरालाल के साथ उसकी मासूम बेटी अजंलि भी जिद करके उसके साथ ट्रक पर आ गई. इस हादसे में अंजली भी घायल हो गई.

एसएचओ सिंह ने कहा कि दुर्घटना का कारण बने कंटेनर को हादसे के बाद चालक भगा ले गया. चित्तौड़गढ़ से मांडल की ओर जा रहे इस कंटेनर को पकडने के लिए मंगरोप पुलिस ने मांडल, रायला और गुलाबपुरा में नाकाबंदी करवाई है, लेकिन अभी तक कंटेनर का पता नहीं चल पाया. घायल विष्णु ने बताया कि हादसे का शिकार हुये लोगों में दो लोग नये और एक दिन पहले ही आये थे. इनमें एक श्यामलाल शामिल है.