कोटा: जिला प्रमुख को ACB का नोटिस, कभी भी हो सकती है गिरफ्तारी

मामले में अब जिला प्रमुख की समस्याएं बढ़ती नजर आ रही हैं. हाल ही में जिला प्रमुख सुरेंद्र गोचर के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप पर FIR भी दर्ज की थी.

कोटा: जिला प्रमुख को ACB का नोटिस, कभी भी हो सकती है गिरफ्तारी
गोचर से रिश्वतकांड के बारे में पूछताछ की जाएगी.

कोटा: जिला परिषद (District Council) में हुए रिश्वतकांड में जिला प्रमुख का पीए चंद्रप्रकाश गुप्ता और बाबू कमलकांत वैष्णव गिरफ्तार हो चुके हैं. वहीं ACB की जांच की सूई अब जिला प्रमुख सुरेंद्र गोचर पर आकर अटक गई है.

मामले में अब जिला प्रमुख की समस्याएं बढ़ती नजर आ रही हैं. हाल ही में जिला प्रमुख सुरेंद्र गोचर के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप पर FIR भी दर्ज की थी.

वहीं अब कोटा एसीबी ने रिश्वतकांड मामले में अब जिला प्रमुख सुरेंद्र गोचर को नोटिस भेजकर कार्यालय पर तलब किया है, जिसके बाद गोचर से रिश्वतकांड के बारे में पूछताछ की जाएगी. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, एसीबी के पास रिश्वतकांड से जुड़े महत्वपूर्ण सबूत है, जिनके आधार पर जांच के बाद जिला प्रमुख सुरेंद्र गोचर की गिरफ्तारी कभी भी हो सकती है.

गौरतलब है कि कुछ दिनों पहले जिला प्रमुख के पीए चंद्रप्रकाश को काल्याखेड़ी के सरपंच से वित्तीय स्वीकृति जारी करने की एवज में 25 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया था, जिसके बाद अगले ही दिन घोसखोर पीए का मास्टरमाइंड साथी कमलकान्त वैष्णव भी गिरफ्तार हुए था जो कि फिलहाल जेल में बंद है.

पकड़े गए इन दोनो आरोपियों ने पूछताछ में जिला प्रमुख सुरेंद्र गोचर के लिए ये रिश्वत लेना बताया था. इसके बाद विधायक भरत सिंह ने डिप्टी सीएम और सीएम को भी सुरेंद्र गोचर को पार्टी और पद से निष्काषित करने की मांग की थी, जिसके बाद से लगातार जिला प्रमुख सुरेंद्र गोचर भूमिगत चल रहा है.