close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

उदयपुर: तनाव के बाद जनप्रतिनिधि ग्रामीणों से कर रहे मुलाकात, समझाइश का हो रहा प्रयास

बिगड़े हालात को सुधारने और लोगों के आक्रोश को शांत करने के लिए सर्व समाज के प्रतिनिधियों के साथ स्थानीय जनप्रतिनिधियों ने पहल की है.

उदयपुर: तनाव के बाद जनप्रतिनिधि ग्रामीणों से कर रहे मुलाकात, समझाइश का हो रहा प्रयास
पलोदरा चौकी में अधिकारियों की जनप्रतिनिधियों के साथ भी बैठक हुई.

उदयपुर: उदयपुर के पिलादर गांव में बवाल के बाद आम जन जीवन अभी भी पूरी तरह से अस्त व्यस्त है. उपद्रव के बाद पुलिस का ख़ौफ़ ग्रामीणों की आंखों में साफ देखा जा सकता है. वहीं, तनाव के बाद माहौल को सामान्य बनाने के लिए स्थानीय जनप्रतिनिधि और प्रशासनिक अधिकारी लगातार पहल कर रहे हैं.

घटना के बाद से उदयपुर के जावरमाइन्स थाना इलाके पिलादर गांव में बाजार बंद है. हत्या के विरोध में ग्रामीणों के प्रदर्शन के बेलगाम होने के बाद ग्रामीण काफी सहमे हुए हैं. बिगड़े हालात को सुधारने और लोगों के आक्रोश को शांत करने के लिए सर्व समाज के प्रतिनिधियों के साथ स्थानीय जनप्रतिनिधियों ने पहल की है. इस दौरान पिलादर सहित आस-पास के गांवों का दौरा कर जनप्रतिनिधियों ने लोगो से समझाइश की और न्याय दिलाने का आश्वासन दिया. 

बताया जा रहा है कि पलोदरा चौकी में कलेक्टर आनंदी और एसपी कैलाशचन्द्र बिश्नोई के साथ और जनप्रतिनिधियों की बैठक भी हुई. जिसमें सलूम्बर विधायक अमृत मीणा, सीडब्ल्यूसी मेम्बर रघुवीर मीणा, डेयरी चेयरमैन गीता पटेल, पूर्व विधायक पुष्कर डांगी सहित कई जन प्रतिनिधि मौजूद रहे. इस दौरान जनप्रतिनिधियों ने पुलिस की कार्रवाई पर रोष जताया. करीब एक घण्टे तक चली वार्ता के दौरान कई मुद्दों पर सहमति बन गई. 

घटना क्रम पर कलेक्टर आनंदी का कहना है कि क्षेत्र में शांति व्यवस्था कायम रखने को लेकर हर संभव प्रयास किए जा रहे है. स्थिति सामान्य होने तक पूरे इलाके में पुलिस का जब्त तैनात रहेगा. आम जन से समजाइश की जा रही है. 

कलेक्टर ने बताया कि रमेश पटेल केस की पुनः जांच की जाएगी और दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा. इस पूरे मामले में पुलिस ने मंगलवार को 190 लोगों को गिरफ़्तार किया. जिनमें 152 लोगों को शांति भंग और 38 लोगों पर आपराधिक मामलों में मुकदमा दर्ज किया गया है.