महंगे रिसोर्ट से चलता था कॉल सेंटर, पुष्कर से अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया तक होता था ठगी का काला धंधा
topStories1rajasthan1002521

महंगे रिसोर्ट से चलता था कॉल सेंटर, पुष्कर से अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया तक होता था ठगी का काला धंधा

 पुष्कर कस्बे के दो रिसोर्ट में हुई छापेमार कार्रवाई में दो अंतरराष्ट्रीय साइबर ठगी के कॉल सेंटर (Call Centre) का पर्दाफाश हुआ है.

 

 महंगे रिसोर्ट से चलता था कॉल सेंटर, पुष्कर से अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया तक होता था ठगी का काला धंधा

Ajmer: तीर्थ गुरु पुष्कर (Pushkar News) दुनिया भर से आने वाले पर्यटकों (Tourists) को अपनी आध्यात्मिक शांति और प्राकृतिक सौंदर्य के आकर्षण से यहां खींच लाता है. वहीं, दूसरी ओर जुर्म की दुनिया के काले कारोबारी इसी छवि की आड़ में अपने काले कारनामों को अंजाम दे जाते हैं. राजस्थान पुलिस इंटेलिजेंस (Rajasthan Police Intelligence) और जिला पुलिस की सजगता के चलते इस बार इन काले कारोबारियों के मंसूबे पूरे नहीं हो पाए. पुष्कर कस्बे के दो रिसोर्ट (Resort) में हुई छापेमार कार्रवाई में दो अंतरराष्ट्रीय साइबर ठगी के कॉल सेंटर (Call Centre) का पर्दाफाश हुआ है.

जिला पुलिस अधीक्षक जगदीश चंद्र शर्मा (Jagdish Chandra Sharma) ने बताया कि महानिदेशक पुलिस इंटेलिजेंस राजस्थान उमेश मिश्रा व आईजी अजमेर रेंज एस सेंगथिर के निर्देशन में सीओ ग्रामीण सुमित मेहराडा और जयपुर पुलिस मुख्यालय की टीम ने पुष्कर कस्बे के बामदेव रोड स्थित नेचर रिट्रीट रिजॉर्ट (Nature Retreat Resort) और रॉक्स एंड वुड रिजॉर्ट में अल सुबह 4:00 बजे के बाद छापामार कार्रवाई को अंजाम देते हुए मौके से 19 लोगों को गिरफ्तार कर लिया. 

यह भी पढ़े- Nagaur: कुचामन में नाबालिग बालिका से गैंगरेप, दो के खिलाफ नामजद मामला दर्ज

12 घंटे चली कार्रवाई में क्या सामने आया
12 घंटे चली कार्रवाई में सामने आया कि द नेचर रिट्रीट रिजॉर्ट पुष्कर में दिल्ली निवासी संचालक राहुल पुष्कर में बैठकर अमेरिका के नागरिकों से अमेजॉन कंपनी के प्रतिनिधि बनकर ठगी कर रहा था. वहीं, कार्रवाई की दूसरी जगह रॉक एंड वुड रिजॉर्ट (Rock and Wood Resort) में बिहार निवासी संचालक राहुल राज ऑस्ट्रेलिया के नागरिकों को इनकम टैक्स अधिकारी बनकर ठगी का शिकार बना रहा था. 

आरोपियों को किया गया गिरफ्तार 
दोनों जगह से इनके सहयोगी कार्यरत आरोपियों को भी गिरफ्तार किया गया है. इस दौरान आरोपियों से 17 लैपटॉप, 19 मोबाइल, 12 हेडफोन मॉडेम राउटर व अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरण कब्जे से जब्त किए हैं. बिहार निवासी गिरोह का मुख्यसंचालक राहुल राज पर पूर्व में सन 2008 में फर्जी कॉल सेंटर संचालित करने का मुकदमा दर्ज हुआ था. अनुसंधान के दौरान पता चला कि यह कॉल सेंटर लगभग 3 महीनों से पुष्कर के इन्हीं दोनों रिजॉर्टो में संचालित किए जा रहे थे.

यह भी पढ़े- Ajmer में बेनकाब हुआ नशा मुक्ति केंद्र, यहां जाने से डरते हैं लोग

आईपीएस सुमित मेहरडा ने क्या बताया
फिलहाल आईपीसी और आईटी एक्ट (IT Act) की विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कर आरोपियों से पूछताछ जारी है. आईपीएस सुमित मेहरडा ने बताया कि शुरुआती पूछताछ में इस गिरोह के देश में बड़े शहरों जैसे दिल्ली, कोलकता, आगरा,चंडीगढ़ में नेटवर्क होने की बात सामने आई है. गिरोह के एक और सदस्य सौरभ की तलाश में पुलिस ने विभिन्न टीमों का गठन कर तलाश शुरू कर दी है. ठगी के दौरान शातिरों द्वारा डिजिटल करंसी बिटकॉइन, मेनोईम आदि में लेंन देन की बात सामने आई है. आरोपियों द्वारा डार्क वेब के उपयोग को लेकर भी अनुसंधान किया जा रहा है.

Trending news