नसीराबाद में चार बच्चों की डूबकर मौत, पूरे गांव में मातम, नहीं जले चूल्हे
topStoriesrajasthan

नसीराबाद में चार बच्चों की डूबकर मौत, पूरे गांव में मातम, नहीं जले चूल्हे

नहाने के लिए जोड़ वाली नाड़ी मेंस, उतरे चारों बच्चों के देर शाम तक जब कोई वापस नहीं लौटने पर पुलिस को सूचना दी गयी. नाड़ी के बाहर मिले बच्चों को कपड़ों से परिजनों का शक बढ़ गया था.

नसीराबाद में चार बच्चों की डूबकर मौत, पूरे गांव में मातम, नहीं जले चूल्हे

Nasirabad : राजस्थान के अजमेर के पीसांगन के नयागांव के पास प्रतापपुरा में चार मासूमों की नाड़ी में डूबने से मौत हो गयी.हादसे की सूचना पर पुलिस और ग्रामीण मौके पर पहुंचे और नाड़ी को जेसीबी की मदद से तुड़वाकर बच्चों की तलाश शुरु की.

अजमेर से पहुंची एसडीआरएफ टीम ने मोर्चा संभालते हुए रात 11 बजे तक 10 मिनट के भीतर ही नाड़ी से चारों बच्चों के शव बाहर निकालने में सफलता हासिल की. शवों के पोस्टमार्टम के बाद इनको परिजनों को सौंपा जाएगा. 

मरने वालों में 15 साल का गोपाल, 13 साल का भोजराज, 13 साल का सोनाराम और 12 साल का लेखराज है. पुलिस ने बताया कि चारों बच्चे मवेशी चराने के लिए जंगल गए थे जहां नहाने के लिए जोड़ वाली नाड़ी में उतर गये. देर शाम तक जब कोई वापस नहीं लौटा, तो पुलिस को सूचना दी गयी. नाड़ी के बाहर मिले बच्चों को कपड़ों से परिजनों का शक बढ़ गया था.

रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू कर रात साढ़े 11 बजे तक महज 10 मिनट में नाड़ी से चारों बच्चों के शव बाहर निकालने में सफलता हासिल की. चारों शवों को पानी से बाहर निकालने के बाद पीसांगन मोर्चरी लाया गया. हादसे की सूचना पर उपखंड अधिकारी प्रियंका बड़गूजर, जिला पुलिस अधीक्षक चुनाराम जाट, नायब तहसीलदार मंजूर अली, जिला पुलिस उप अधीक्षक अजमेर ग्रामीण मोहम्मद इस्लाम खान, प्रधान दिनेश कुमार नायक, थानाधिकारी नरपत राम बाना, मांगलियावास थानाधिकारी सुनील कुमार टाडा,भड़सूरी सरपंच प्रतिनिधि बलदेव गुर्जर, लालचंद प्रजापत, गिरदावर अमराराम चौधरी और पटवारी प्रवीण कुमार गोदा पहुंचे.

 

Trending news