कोटा में सारे टोल प्लाजा हुए कैशलेस, फास्टटैग के बिना गुजरे तो लगेगा जुर्माना

सोमवार से देश के राष्ट्रीय राजमार्गों पर स्थित टोल कैशलेस हो गए हैं. एनएच के सभी टोल प्लाज़ा पर फास्टटैग(Fastag) लागू भी हो गया है. टोल पर लगने वाले समय और ईंधन की बचत को लेकर सड़क एवं परिवहन मंत्रालय ने ये व्यवस्था लागू की है.

कोटा में सारे टोल प्लाजा हुए कैशलेस, फास्टटैग के बिना गुजरे तो लगेगा जुर्माना
प्रतीकात्मक तस्वीर

कोटा: सोमवार से देश के राष्ट्रीय राजमार्गों पर स्थित टोल कैशलेस हो गए हैं. एनएच के सभी टोल प्लाज़ा पर फास्टटैग(Fastag) लागू भी हो गया है. टोल पर लगने वाले समय और ईंधन की बचत को लेकर सड़क एवं परिवहन मंत्रालय ने ये व्यवस्था लागू की है.

अब आप नेशनल हाई-वे(National Highway) पर चलते हुए टोल प्लाज़ा से गुज़र रहे हैं तो आपकी गाड़ी के लिए फास्टटैग(Fastag) सोमवार से जरूरी हो गया है. आज से पूरे देश में गाड़ियों पर फ़ास्टटैग(Fastag) अनिवार्य कर दिया गया है. बीते 15 दिन से लगातार इसको लेकर ट्रायल भी टोल प्लाज़ा पर चल रहा था. लोगों को फ़ास्टटैग(Fastag) की जानकारी दी जा रही थी और फ़ास्ट टैग के लिए कैम्प भी लगाए गए.

सभी तैयारियों और प्रक्रिया को पूरा करने के बाद सोमवार से NHAI ने देश के सभी टोल पर फ़ास्ट टैग लागू कर दिया है. ताकि सबका सफ़र आसान हो सके. टोल प्लाज़ा पर लम्बी क़तारों में आपको न लगना पड़े, आपके ईंधन की बचत के साथ कैश का झंझट भी खत्म हो सके इसी मंशा के साथ केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्रालय की ओर से इसे लागू किया है.

NH-27 स्थित कोटा के सिमलिया टोल प्लाज़ा पर फास्टटैग(Fastag) सिस्टम का जायजा जी मीडिया ने लिया तो पता चला कि नए सिस्टम के लागू होने के बाद लोगों को कितनी सहूलियत और कितनी दिक्कतों का सामना करना पड़ा है. सिमलिया टोल पर 6 में से चार लेन को फ़ास्ट टैग कर दिया गया है. जबकि एक लेन आने और एक लेन जाने के लिए कैश लेन छोड़ी गई है.

वहीं, केश लेन में लम्बी क़तारें नज़र आई तो फ़ास्ट टैग लेन ख़ाली दिखाई पड़ी. फास्टटैग लेन से वाहन प्रक्रिया पूरा करते हुए निकल गए. नए नियम का पहला दिन होने की वजह से तमाम लोगों को इसकी जानकारी नहीं थी. वो अलग बात है, कि सरकार की तरफ से पहले घोषित हुई 1 दिसंबर की तारीख को 15 दिसंबर तक बढ़ा दिया गया था. लेकिन ये माना जा रहा है कि समय के साथ लोग फास्टटैग सिस्टम के बारे में जागरुक हो जाएंगे.