close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

BJP प्रदेश सभी समस्याओं को सरकार के सामने पुरजोर तरीके से रखेगी- कटारिया

गुलाब चंद कटारिया ने सबसे पहले महाराणा प्रताप की पुण्यतिथि के अवसर पर एयरपोर्ट परिसर में लगी प्रताप की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित की ओर नमन किया.

BJP प्रदेश सभी समस्याओं को सरकार के सामने पुरजोर तरीके से रखेगी- कटारिया
फाइल फोटो

उदयपुर: भारतीय जनता पार्टी के दिग्गज नेता और विधानसभा के प्रतिपक्ष नेता गुलाबचंद कटारिया के पहली बार उदयपुर पहुंचने पर महाराणा प्रताप एयरपोर्ट पर पार्टी के कार्यकर्ताओं की ओर से जोरदार स्वागत किया गया. एयरपोर्ट पर कार्यकर्ताओं ने गुलाब चंद कटारिया को मालाओं से लाद दिया. इस मौके पर सांसद अर्जुन लाल मीणा, महापौर चंद्रसिंह कोठारी, यूआईटी के पूर्व चेयरमैन रविंद्र श्रीमाली, विधायक फुल सिंह मीणा, शहर और देहात जिला अध्यक्ष सहित कई कार्यकर्ता मौजूद रहे. 

इस दौरान गुलाब चंद कटारिया ने सबसे पहले महाराणा प्रताप की पुण्यतिथि के अवसर पर एयरपोर्ट परिसर में लगी प्रताप की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित की ओर नमन किया. एयरपोर्ट के बाहर कार्यकर्ताओं में जोरदार आतिशबाजी कर कटारिया का स्वागत किया. कटारिया ने भी पार्टी के कार्यकर्ताओं का मान बढ़ाते हुए उनके द्वारा किए गए स्वागत का धन्यवाद ज्ञापित किया. 

इस दौरान कटारिया ने मीडिया से बातचीत करते हुए साफ किया कि पार्टी ने उन्हें जो जिम्मेदारी दी है वह उस पर पूरी तरह से खरा उतरने की कोशिश करेंगे. उन्होंने इस मौके पर यह भी कहा कि मेवाड़ के लोगों ने जिस तरह से पार्टी का मान बढ़ाया है उसी के अनुरूप पार्टी ने उन्हें नेता प्रतिपक्ष की जिम्मेदारी दी है और इस जिम्मेदारी के तहत विधानसभा में मेवाड़ की समस्याओं के साथ-साथ पूरे प्रदेश की समस्याओं को सरकार के सामने पुरजोर तरीके से रखेंगे. 

इस मौके पर कटारिया ने जनता को आश्वस्त करते हुए कहा कि वह मेवाड़ की समस्या को सरकार के सामने पुरजोर तरीके से रखेंगे ताकि उनका निस्तारण समय पर हो सके. कटारिया ने डॉक्टर सीपी जोशी को विधानसभा अध्यक्ष बनाए जाने को लेकर भी कहा कि मेवाड़ से विधानसभा अध्यक्ष जरूर मिला है लेकिन अगर उनको उनकी पार्टी, मंत्रिमंडल में शामिल करती तो मेवाड़ की समस्याओं के निस्तारण अच्छा सहयोग मिलता. इसके अलावा मंत्रिमंडल में रहकर मेवाड़ की समस्याओं को सरकार के सामने रख सकते थे.