close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: विधानसभा में सीएम अशोक गहलोत ने विपक्ष के आरोपों का दिया जवाब, कसा तंज

राजस्थान विधानसभा के बजट सत्र में बजट भाषण पर चर्चा के दौरान मंगलवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ना केवल विपक्ष के आरोपों पर कड़ा जवाब दिया. इस दौरान उन्होंने कई अहम घोषणाएं भी की.

राजस्थान: विधानसभा में सीएम अशोक गहलोत ने विपक्ष के आरोपों का दिया जवाब, कसा तंज
सीएम ने कहा, 'पब्लिक इंटरेस्ट की योजना बंद नहीं होगी.' (फाइल फोटो)

जयपुर: राजस्थान विधानसभा के बजट सत्र में बजट भाषण पर चर्चा के दौरान मंगलवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ना केवल विपक्ष के आरोपों पर कड़ा जवाब दिया. इस दौरान उन्होंने कई अहम घोषणाएं भी की. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राजस्थान में मॉब लिंचिंग और ऑनर किलिंग के लिए कानून बनाने की घोषणा की है. इसके साथ ही प्रदेश में 25 नए महाविद्यालय खोले जाने का भी ऐलान किया. 

मुख्यमंत्री ने कहा अब प्रदेश में मिलावट खोरी पर पूरी तरह से अंकुश लगाया जाएगा. विधानसभा के बजट सत्र में बजट भाषण पर चर्चा के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने जवाब दिया. गहलोत ने नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया के बजट पर उठाए सवालों के एक एक करके ना केवल जवाब दिए बल्कि बीजेपी की राजनीति पर भी कड़े प्रहार किए. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा लोकसभा चुनाव जीतने के बाद बीजेपी घमंड में है इसीलिए विधानसभा की बजाय सदन में लोकसभा चुनाव की बातें की जा रही है. लोकसभा चुनाव में उन्होंने मुद्दों की बजाय राष्ट्रवाद और सेना के शौर्य की आड़ में छिपकर लड़ा है. 

पीएम पर भी साधा निशाना
गहलोत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी निशाना साधा साथ ही कहा कि चुनाव जीतने के बाद सेंट्रल हॉल में दिए गए भाषण में मोदी की भाषा बदली हुई नजर आई. उन्होंने सेंट्रल हॉल में अल्पसंख्यक समाज और महात्मा गांधी को लेकर बातें की, लेकिन नेता प्रतिपक्ष को नहीं भूलना चाहिए कि जनता ने विधानसभा चुनाव में उन्हें विपक्ष में बिठाया है और यह तभी तय हो गया था जब झुंझुनू में जनता ने उनके खिलाफ नारे लगाए थे कि मोदी तुझसे बैर नहीं और रानी तेरी खैर नहीं. 

योजनाओं के नाम बदलने पर कसा तंज
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने योजनाओं के नाम बदलने की राजनीति पर विपक्ष के आरोपों का कड़ा जवाब दिया. गहलोत ने कहा योजनाओं के नाम बदलने की राजनीति बीजेपी की फितरत में रही है. यही कारण है कि शिक्षा संकुल में राजीव गांधी के नाम के पत्थर लगे हुए थे लेकिन बीजेपी सरकार ने नाम बदल दिया राजीव गांधी सेवा केंद्रों के नाम अटल सेवा केंद्र कर दिए. लेकिन कांग्रेस ने सत्ता में वापस आने के बाद अटल जी का नाम हटाया नहीं बल्कि राजीव अटल सेवा केंद्र कर दिया है. लेकिन नाम बदलने की राजनीति के चलते इतिहास कभी भी बीजेपी को माफ नहीं करेगा.

गांधी जयंती पर केंद्र पर साधा निशाना
महात्मा गांधी की 150वीं जयंती को लेकर केंद्र सरकार के कार्यक्रम पर भी सीएम गहलोत ने निशाना साधा. उन्होंने कहा कि बीजेपी भले ही महात्मा गांधी की 150वीं जयंती मनाने निकली हो लेकिन जयंती मनाने से पहले उन्हें महात्मा गांधी की पुस्तक सत्य और अहिंसा भी पढ़ लेनी चाहिए. गहलोत ने कहा कि विपक्ष से उम्मीद करते हैं कि केंद्र से जरूरी फंड दिलाने में सहयोग करेंगे. 

भामाशाह कार्ड योजना पर भी उठाए सवाल
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने भाषण में भामाशाह कार्ड योजना पर भी सवाल उठाए और कहा कि सरकार बदलती है तो किस तरह से योजनाओं के नाम पर बजट का दुरुपयोग होता है, भामाशाह कार्ड योजना इसका सबसे बड़ा उदाहरण है. भामाशाह योजना में कार्ड पर पार्टी का झंडा कमल का फूल मुख्यमंत्री की गई और इसे बनाने और वितरण करने में ₹300 का खर्च आया जो कि एक तरह से अपराध था. 

नहीं बंद करेंगे पब्लिक इंटरेस्ट की योजना
मुख्यमंत्री ने कहा कि आप की तरह हम किसी भी पब्लिक इंटरेस्ट की योजना को बंद नहीं करेंगे. मुख्यमंत्री ने रिसर्जेंट राजस्थान के नाम पर हुए घोटाले पर भी अपनी बात रखी और कहा जो घोटाला हुआ है उसकी जांच होनी चाहिए. मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन में मुफ्त मोबाइल बांटने और निशुल्क लैपटॉप योजना बजट को लेकर भी विपक्ष पर निशाना साधा गहलोत ने बेरोजगारी दर के आंकड़ों को छिपाने की राजनीति भी सदन में रखी और बताया कि चुनाव के बाद सच्चाई सबके सामने आ गई है कि इसमें 45 सालों में बेरोजगारी दर सबसे अधिक हो गई है.

किसानों की कर्ज माफी पर भी दिया जवाब
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने किसानों की कर्ज माफी के मुद्दे पर कहा कि किसानों के संपूर्ण कर्ज माफ करने की हमने घोषणा की थी और उसे तुरंत अमल में लाया गया है. बीजेपी के छोड़े गए भार को भी सरकार वहन कर रही है लेकिन गहलोत ने कहा जब उद्योग पतियों के वन टाइम सेटलमेंट हो सकते हैं तो किसानों के किसानों के कर्ज को एक साथ ही माफ क्यों नहीं किया जा सकता. 

मानसून की समस्या से निपटने को सरकार तैयार
मानसून में हो रही देरी से निपटने को लेकर गहलोत ने कहा कि वह इस संबंध में सरकार पूरी तरह से तैयार हैं. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा राजस्थान में अब मिलावटखोरों पर अंकुश लगाने के लिए सरकार कड़ी कार्रवाई करेगी. मिलावट करो कि खिलाफ़ पीपीएनडी एक्ट के तहत कार्रवाई होगी. 

खुलेंगे 25 नए राजकीय महाविद्यालय
सदन में मुख्यमंत्री ने आज कई अहम घोषणाएं भी की मुख्यमंत्री ने कहा की राजस्थान में अब 25 नए राजकीय महाविद्यालय, दो नए कृषि कॉलेज और डूंगरपुर में नई विधि महाविद्यालय की स्थापना की जाएगी. शाहपुरा जयपुर में नया ट्रांसपोर्ट नगर बनाया जाएगा. झुंझुनू में स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी को फिर से शुरू किया जाएगा. रोडवेज को हर महीने 45 करोड़ दिए जाएंगे. इसके अलावा सादुलपुर में स्टेडियम और कन्या कॉलेज भी बनाया जाएगा. 

विपक्ष के आरोपों का दिया जवाब
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने विपक्ष के आरोपों का न केवल बखूबी जवाब दिया, बल्कि कई अहम घोषणा कर प्रदेशवासियों को भी नई सौगातें दी है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बुधवार के अपने भाषण में एक महत्वपूर्ण बात कही की बजट के आंकड़ों पर चर्चा करने की बजाए इस बात पर मंथन होना चाहिए कि सरकार इसे कैसे लागू करेगी और हमारी मंशा है कि कि हम जनकल्याणकारी इस बजट को बेहतर तरीके से प्रदेश में लागू करें. जिससे प्रदेश में विकास की रफ्तार तेज हो सके.