जयपुर में नहीं होगी दूषित पानी की समस्या, 30 साल बाद बदली गई पाइप लाइन

अक्सर सीवर का गंदे पाने से लोगों को परेशानी होती थी. आए दिन परकोटे के अधिकतर इलाके में गंदे पानी की शिकायतें आती थी

जयपुर में नहीं होगी दूषित पानी की समस्या, 30 साल बाद बदली गई पाइप लाइन
अब तक 70 फीसदी इलाको में पानी की पाइपलाइन बिछाने का काम खत्म हो गया है

आशीष चौहान/जयपुर: प्रदेश की राजधानी में दूषित पानी से परेशान लोगों को राहत मिलना शुरू हो गया है,क्योकि जलदाय विभाग की पाइपलाइन बदलने का काम एक महीने के भीतर पूरा हो जाएगा. अक्सर सीवर का गंदे पाने से लोगों को परेशानी होती थी. आए दिन परकोटे के अधिकतर इलाके में गंदे पानी की शिकायतें आती थी. इसी समस्या को दूर करने के लिए जलदाय विभाग ने 25 से 30 साल पुरान पाइपलाइनों को बदलकर नई पाइप लाइनें बिछाई है.

अब तक 70 फीसदी इलाको में पानी की पाइपलाइन बिछाने का काम खत्म हो गया है. केवल 30 फीसदी इलाकों में ही पाइपलाइन बिछाना बाकी है. जलदाय विभाग ने दावा किया है कि एक महीने के भीतर जयपुर में दूषित पानी की समस्या खत्म हो जाएगी. सभी जगहों पर पानी की नई पाइपलाने बिछाई जाएगी. पानी की पाइपलाइन में गंदा पानी इसलिए आता था क्योंकि इसी के नजदीक सीवर की लाइने भी आ रही थी. लाइन लीकेज होने के कारण घरों में गंदा पानी पहुंचता था. सालों बाद पानी के पाइप बदले तो गंदे पानी शिकायत कम करने का दावा जलदाय विभाग कर रहा है.

जलदाय विभाग के चीफ इंजीनियर आईडी खान का कहना है कि "परकोटे में सालों से पुरानी पाइप लाइन नहीं बदली गई थी, जिस कारण लोगों को दूषित पानी की समस्या हो रही थी. अब नई पाइपाइप लाइन बिछाने से उपभोक्ताओं को दो फायदे होंगे. पहला फायदा पानी स्वच्छ पहुंचेगा और दूसरा पानी की स्पिड भी बढेगी. अप्रैल तक जयपुर शहर में गंदे पानी की शिकायत खत्म हो जाएगी. बचे हुआ काम इंजीनियर एक महीने के भीतर पूरा कर लेंगे.

जलदाय विभाग को नई पाइपलाइन बिछाने का काम बारिश से पहले करना होगा, नहीं तो दूरी हुई तो फिर से बारिश का बहाना बनाकर इंजीनियर लापरवाही बरतते रहेंगे. इसलिए शहर में खुदाई का काम बारिश से पहला किसी भी हाल में करना ही होगा. लेकिन पाइपलाइन बदलने से जयपुर के लोगों को बड़ी राहत मिलेगी.

इसके साथ प्रदेश केचांदपोल, शास्त्री नगर की भट्टा बस्ती, ब्रहम्पुरी, चारदरवाजा, छोटी चौपड़, बडी चौपड़, रामगंज बाजार, गणगौरी बाजार, रामगढ़ मोड़ ,सीकर हाउस समेत कई कॉलोनियों में पाइप लाइन बदली गई है.