close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान में लगातार बढ़ रही ठंड से परेशान लोग, मावठ से फसलों को भी पहुंच रहा नुकसान

बीते 48 घंटों से मौसम में अचानक आए बदलाव ने लोगों को परेशान कर दिया है. आसमान में बादलों की आवाजाही और शीतलहर के चलते लोग घरों में दुबक के रहने को मजबूर हैं.

राजस्थान में लगातार बढ़ रही ठंड से परेशान लोग, मावठ से फसलों को भी पहुंच रहा नुकसान
प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में लोगों को ज्यादा ठंड का सामना करना पड़ रहा है. (फाइल फोटो)

जयपुर/ ललित कुमार: राजस्थान में शीतलहर और कड़ाके की सर्दी ने लोगों की मुसीबतें बढ़ा दी है. बीते 48 घंटों से आसमान में बादलों की आवाजाही और हिमाजल, जम्मू कश्मीर में हो रही बर्फबारी का सीधा असर राजस्थान में देखने को मिल रहा है. पिछले दो दिन से तापमान में करीब 2 से 3 डिग्री गिरावट के साथ लोगों की कंपकंपी छूट रही है. इसके साथ ही कोहरे की चादर ने वाहनों की रफ्तार पर भी ब्रेक लगा दिया है. सुबह सूरज निकलने के साथ ही पड़ने वाली गलन भी लोगों के लिए परेशानी का सबब बनती जा रही है.

48 घंटों में मौसम ने ली करवट
बीते 48 घंटों से मौसम में अचानक आए बदलाव ने लोगों को परेशान कर दिया है. आसमान में बादलों की आवाजाही और शीतलहर के चलते लोग घरों में दुबक के रहने को मजबूर हैं. वहीं कोहरे की चादर ने वाहनों की रफ्तार पर ब्रेक लगा दिया है. सुबह और शाम चलने वाली शीतलहर ने लोगों की कंपकंपी छुड़ा दी और यह फसलों के लिए भी नुकसानदायक साबित हो रही है.

अन्नदाताओं की बढ़ी परेशानी
बीते दो दिनों से ग्रामीण इलाकों में सबसे ज्यादा परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. घने कोहरे और गलन के चलते अब फसलों को नुकसान पहुंचना शुरू हो गया है. प्रदेश के कई जिलों में हुई मावठ के नुकसान भी अब सामने आने लगे हैं. दिसम्बर में हुई मावठ के चलते फसलों को नुकसान का अनुमान लगाया जा रहा है. इसके साथ ही आने वाले कुछ दिनों तक प्रदेश में इसी प्रकार का मौसम बने रहने की संभावना है.

अगले एक सप्ताह तक ठंड रहने की संभावना
मौसम विभाग के अनुसार प्रदेश में अगले एक सप्ताह तक इसी प्रकार का मौसम बना रहने की संभावना है. साथ ही कई जिलों में बादलों की आवाजाही के साथ मावठ के भी आसार हैं जिसके चलते फसलों को नुकसान होने की भी संभावना जताई जा रही है.