close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कोटा: मंत्री के इलाके में जलदाय विभाग का ऑफिस बना रैन बसेरा,अधिकारी बेखबर

रेलवे स्टेशन इलाके में जलदाय विभाग के नवनिर्मित सहायक अभियंता कार्यालय भवन में बनी टंकी से स्टेशन क्षेत्र इलाके में पानी की सप्लाई की जाती है

कोटा: मंत्री के इलाके में जलदाय विभाग का ऑफिस बना रैन बसेरा,अधिकारी बेखबर
यहां ठेकेदार की गाड़िया,ट्रेक्टर सहित अन्य वाहनों को पार्क भी किया जाता है

कोटा/मुकेश सोनी: प्रदेश के कोटा उत्तर विधानसभा के स्टेशन इलाके में जलदाय विभाग का नवनिर्मित सहायक अभियंता कार्यालय भवन इन दिनों रेन बसेरा बना हुआ है. अमृतमजल योजना में कार्य कर रहे ठेकेदार की लेबर ने इस भवन में डेरा जमाया हुआ है. पिछले 4 से 5 महिनो से करीब 50 लेबर इस भवन में अवांछित तरीके से रह रही है. जानकारी होने के बाद भी जिम्मेदार अधिकारी कार्रवाई की हिम्मत नही जुटा पा रहे है. जबकि यह इलाका यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल के निर्वाचन क्षेत्र में आता है. 

रेलवे स्टेशन इलाके में जलदाय विभाग के नवनिर्मित सहायक अभियंता कार्यालय भवन में बनी टंकी से स्टेशन क्षेत्र इलाके में पानी की सप्लाई की जाती है. टंकी की सुरक्षा के लिहाज से एक गार्ड यहां तैनात रहता है. वर्तमान में यहां का नजारा देखने के लायक है. अधिकारियों के बैठने के लिए बनाए गए नवनिर्मित कमरों में बेखौफ होकर ठेकेदार की लेबर इन कमरों में खाना बना रही है.

इतना ही नहीं कमरों में सोने के लिए बिस्तर लगे है. साथ ही ठेकेदार की गाड़िया,ट्रेक्टर सहित अन्य वाहनों को पार्क भी किया जाता है. ये लोग बेरोकटोक अवैध तरीके सरकार के खाते में बिजली का भी उपयोग कर रहे है. सरकारी खर्चे पर कूलर,पंखे,आटा चक्की सहित अन्य संसाधनों का इस्तेमाल कर रहे है. नवनिर्मित सहायक अभियंता कार्यालय में पड़ी शराब की बोतल भी मिली है. इससे ऐसा प्रतीत होता है कि इनका इस्तेमाल भी रात के समय मे किया जाता है. इतना कि नहीं इन लोगो ने अपने स्तर पर सुविधायों का विस्तार करते हुए 5 टॉयलेट भी बना लिए. अधिकारियों के नाक के नीचे इतना सबकुछ होने के बाद भी जिम्मेदारो की नींद नही टूटी है.

जब इस बारे में जलदाय विभाग के सहायक अभियंता राजेश शुक्ला ने बात की तो उन्होंने इस बारे में कैमरे पर बोलने से साफ इंकार कर दिया. शुक्ला ने कहा कि हमे सब पता है लेकिन आपको नहीं बता सकता. इस बारे में उच्चाधिकारी ही कुछ बता सकते है. शुक्ला ने कहा कि कनिष्ठ अभियंता से जानकारी लेकर इस बारे में उच्चाधिकारियों को अवगत करवा दूंगा. मैं जवाब देने के लिए अधिग्रहित नहीं हुआ. वहीं अधिशाषी अभियंता सोमेश मेहरा से भी बात की तो उन्होंने लीपापोती करते हुए मामले से ही पल्ला झाड़ लिया. सोमेश मेहरा ने कहा कि इस बारे में अधीक्षण अभियंता ही बताएंगे.

अधिकारी को किया गुमराह
जब इस बारे में अधीक्षण अभियंता राकेश कुमार से पूछा तो उन्होंने कनिष्ठ अभियंता जितेंद्र यादव से जानकारी ली. जितेंद्र यादव ने अधीक्षण अभियंता को गुमराह करते हुए नवनिर्मित भवन में टेक्निकल स्टाफ के रहने के बारे में जानकारी दी. जब मीडियाकर्मी ने अधीक्षण अभियंता को अवैध तरीके टॉयलेट निर्माण व बिजली का उपयोग करने की जानकारी दी तो उन्होंने कहा मुझे कोटा आये ज्यादा समय नहीं हुआ है कोटा का अतिरिक्त चार्ज मेरे पास है. उन्होंने कहा कि मामले को गम्भीरता से दिखवाता हूं.