close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: मकर संक्रांति से पहले चाइनीज मांझे से बचाव के लिए NGO ने तैयार किया जुगाड़

ईडब्ल्यूसीएस संस्था ने ऐसा जुगाड़ बनाया है, जिसके जरिए बाइक पर पतंग नहीं आ सकेगी. 

राजस्थान: मकर संक्रांति से पहले चाइनीज मांझे से बचाव के लिए NGO ने तैयार किया जुगाड़
चाइनीज मांझे से बचाव के लिए बनाए जुगाड़ को देखते परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास.

आशीष चौहान, जयपुर: जयपुर में मकर संक्रांति के दौरान पतंगबाजी का चरम सातवें आसमान पर होता है. ऐसे में पतंगबाजी के दौरान लोग ये भूल जाते है कि उनके पतंग की डोर से किसी के जान भी जा सकती है. पतंगबाजी के दौरान चाइनीज मांझे के इस्तेमाल से कई लोगों के जीवन की डोर कट चुकी है. इस दौरान दुपहिया वाहन चालकों की जान सांसत में रहती है.

लेकिन जयपुर में दुपहिया वाहन चलाने वालों की जान बचाने के लिए एक संस्था ने ऐसा जुगाड बनाया है, जिसकी मदद से आपकी जान चाईनीज मांझे से बचाई जा सकती है. बताया जा रहा है कि,  संस्था ने ऐसा जुगाड़ बनाया है, जिसके जरिए बाइक पर पतंग नहीं आ सकेगी. जिससे गाड़ी चलाने के दौरान आपकी गर्दन भी सुरक्षित होगी और आपका पूरा शरीर भी.

जयपुर शहर में ईडब्ल्यूसीएस संस्था की ओर से जगह-जगह इस जुगाड़ का प्रचार भी किया जा रहा है. वहीं, संस्था के पोस्टर का विमोचन परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने किया था. मंत्री ने संस्था के इस पहल को सराहा भी. उनका कहना था कि इस पहल से आम लोगों को के जागरूकता के लिए किया जा रहा यह प्रयास काफी सराहनीय है.

इस संबंध में संस्था के अध्यक्ष आशीष मेहता ने बताया "चाइनीज मांझे से लगातार लोग घायल हो रहे हैं, मासूमों की मौत भी हो रही है. जिसके बाद संस्था ने आम लोगों की जान बचाने के लिए इस पहल की शुरुआत की. '' 

उन्होंने यह भी बताया "केवल तार के टुकड़े के जरिए इस जुगाड़ को बेहद आसानी से बनाया जा सकता है. बाइक चालक अपनी बाइक के आगे तार को गोल करके लगा सकता है. जिसके बाद में ना तो उसकी गर्दन कटने का डर रहेगा और ना ही और ना ही उसके शरीर को किसी तरह का खतरा होगा.''

माना जा रहा है कि स्वयंसेवी संस्था के इस प्रयास से राज्य के आम लोग जागरूक भी होंगे. साथ ही चाईनीज मांझे से लोगों की जान भी बचाई जा सकेगी. लेकिन मकर संक्रांति के पहले बाइक सवारों को मफलर या फुल जैकेट पहन कर ही बाहर निकलने की सलाह दी जा रही है. 

मकर सक्रांति के त्यौहार पर शहर से गुजर रही बिजली की लाइनें हादसे का कारण नहीं बने इसके लिए जयपुर डिस्कॉम ने भी एडवाइजरी जारी की है. डिस्कॉम के प्रबंध निदेशक एके गुप्ता ने कहा है कि बच्चे और खासकर पेरेंट्स बिजली लाइनों के आसपास पतंगबाजी नहीं करें. वहीं अगर पतंग की डोर बिजली के तारों में उलझती है तो खींचे नहीं. साथ ही प्रतिबंधित मैटेलिक पाउडर का मांझा के प्रयोग की मनाही भी की गई है.