close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: मिलावटी खाद्य पदार्थों की बिक्री पर मानवाधिकार आयोग ने लिया संज्ञान, मांगी रिपोर्ट

मानवाधिकार आयोग अध्यक्ष जस्टिस प्रकाश टाटिया ने स्वास्थ्य विभाग से पिछले 10 सालों के कार्रवाई की रिपोर्ट मांगी है.

राजस्थान: मिलावटी खाद्य पदार्थों की बिक्री पर मानवाधिकार आयोग ने लिया संज्ञान, मांगी रिपोर्ट
प्रदेश में 50 लाख कारोबारी खाद्य पदार्थों का व्यवसाय करते हैं. (फाइल फोटो)

जयपुर: प्रदेश में मिलावटी खाद्य पदार्थों की बिक्री पर राज्य मानवाधिकार आयोग ने संज्ञान लिया है. इस संबंध में मानवाधिकार आयोग ने प्रकरण दर्ज कर राज्य स्वास्थय विभाग एसीएस से 9 अप्रैल तक विस्तृत रिपोर्ट मांगी है.

बताया जा रहा है कि मानवाधिकार आयोग अधक्ष जस्टिस प्रकाश टाटिया ने स्वास्थ्य विभाग से पिछले 10 सालों का रिकॉर्ड उपलब्ध कराने को कहा गया है. जिसमें अब तक की कार्रवाईयों की जानकारी दी जाए सके. अब तक इस तरह के मामलों में किस साल कितनी कार्रवाईयां की है और कितनों में उन्हें सजा मिली है. जिसकी जानकारी मानवाधिकार आयोग को उपलब्ध कराना है. 

आपको बता दें कि, प्रदेश में 50 लाख कारोबारी खाद्य पदार्थों का व्यवसाय करते हैं. जिसमें मिलावट रोकने की जिम्मेदारी राज्य के 73 खाद्य सुरक्षा अधिकारियों के हवाले है. इनमें केंद्रीय टीम सहित 13 अधिकारी केवल जयपुर में तैनात है. 

आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, इसके लिए गठित केंद्रीय टीम प्रदेश में कहीं भी कार्रवाई के लिए स्वतंत्र है. लेकिन राज्य में उसकी कार्रवाई न के बराबर है. वहीं, 
कई जिलों में एक भी खाद्य सुरक्षा अधिकारी अब तक नहीं है.